अलीमुद्दीनपुर आबादी तालाब मे हुई तब्दील लोगो के घरो में घुसा पानी-घटिया स्तर पर हुआ है नाली खड़ंजा निर्माण कार्य

1 min read

अलीमुद्दीनपुर आबादी तालाब मे हुई तब्दील लोगो के घरो में घुसा पानी-घटिया स्तर पर हुआ है नाली खड़ंजा निर्माण कार्य

(रिपोर्ट सैय्यद मोहम्मद राशिद)

टाण्डा अम्बेडकरनगर। बुनकर नगरी की सुप्रसिद्ध नगर पालिका परिषद टाण्डा के द्वारा नेयपुरा रोड निकट जलनिगम के पास स्थित नई आबादी मोहल्ला अलीमुद्दीनपुर में ठेकेदार प्रमोद के द्वारा नाली खड़़जा कार्य में बड़ी लापरवाही के कारण लगातार तीन दिनो से हो रही भारी बारिश ने पोल खोलकर रख दिया है एक तरफ बरसात का पानी इकट्ठा हुआं है तो दूसरी तरफ ठेकेदार के द्वारा बनवाया गया नाली खड़़जा कार्य घटिया स्तर पर करवाया गया है। जहां बनवाई गयी नालियां अभी से तूटने लगी है. और तो और नालियों से पानी आबादी से बाहर निकलने के बजाए उल्टा आबादियों में इकट्ठा हो गया है

जिसके कारण लोगो के घरो तक में पानी घुस गया यहां का दृश्य देखने पर यही लगता है यदि एक दो दिन और बरसात हुई तो कुछ लोगो को घरो से बाहर जाने के लिए शायद नांव का भी सहारा लेना पड़ सकता है. बताते चलू नगर पालिक परिषद टाण्डा मे तैनात अधिषाशी अधिकारी डांक्टर आर.पी. श्रीवास्तव ने आते ही सिर्फ जुमलो मे कहा था कि नगरक्षेत्र को स्वछ व हरा भरा बनाना है बहरहाल कहना तो आसान है कर दिखाना बहुत मुश्किल है। आबादी के लोगो का मानना है नवनियुक्त ईओ ने अब तक अलीमुद्दीनपुर आबादी मे करवाये जा रहें लम्बे पैमाने पर नाली खड़ंजा कार्य को देखा तक नही जबकि उपजिलाधिकारी श्री अभिषेक पाठक व पूर्व में रहें ईओ मनोज कुमार ने आबादी क्षेंत्र में कईयो चक्कर लगाया था और ठेकेदार को कार्य के विषय पर फटकार भी लगाई थी बहरहाल जबकि एक तरफ कोरोना महामारी कि तीसरी लहर कि संभावना व्यक्त करते हुए शासन प्रशासन कि चिंताए बढ़ी हुई है कि लोगो को किस तरह से बचाया जाय वही बरसात का पानी इकट्ठा होने से बिमारियां फैलने का खतरा ज्यादा बढ़ गया है। दूसरी तरफ डेंगू  मलेरिया टाइफाइड जैसी घातक बिमारियों से लोग जुझ रहें है। खैर जो कुछ भी हो अब देखना यह बाकी है कि नगरक्षेत्र के बीचो बीच बसी इस आबादी क्षेत्र का अभी भी जायजा लेने के लिए पालिका प्रशासन पहुंचता है या नही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित