एडवोकेट उमेश यादव ‘सोनू’ की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ कार्यक्रम ( आओ चलें बूथ के पास चौपाल करें)

1 min read

एडवोकेट उमेश यादव ‘सोनू’ की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ कार्यक्रम ( आओ चलें बूथ के पास चौपाल करें)

अयोध्या/फैजाबाद, राजू निषाद (अवधी खबर)। समाजवादी लोहिया वाहिनी द्वारा पुरे उत्तर प्रदेश में आओ चले चौपाल की ओर हर बूथ कार्यक्रम को आज अयोध्या में किया गया कार्यक्रम की अध्यक्षता उमेश यादव ‘सोनू’ (एडवोकेट) ने किया। जिसमे मुख्य अतिथि प्रदीप तिवारी ( राष्ट्रीय अध्यक्ष समाजवादी लोहिया वाहिनी ) व वरिष्ठ अतिथि दिलीप यादव (राष्ट्रीय प्रवक्ता समाजवादी लोहिया वाहिनी) थे। जिसका मकशद अखिलेश की जन कल्याण कारी योजनाओं को जन जन तक पहुंचना, हर वर्ग को जोड़ना,चौपाल के माध्यम से दबे कुचलो की आवाज बनना विकास का नया खाका तैयार किया जाएगा हर बूथ पर चौपाल करके, इस चौपाल कार्यक्रम में ज़िला-अयोध्या के पाँचो विधानसभा के बूथ स्तर के पदाधिकारियों व समाजवादी पार्टी के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं में पुनः जोश भरने का कार्य किया गया। इस कार्यक्रम में समाजवादी पार्टी के अयोध्या के लगभग हर बूथ के कार्यकर्ताओं ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। उमेश यादव ने कहा कि अखिलेश यादव के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी 2022 के चुनाव में पूर्ण बहुमत में आ रही है।

व फिर से अखिलेश यादव मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं, वर्तमान सरकार में हो रहे उत्पीड़न विशेष कर ब्राह्मण जाति का उत्पीड़न किया जा रहा है, ब्राह्मण भूलेगा नहीं आज हर वर्ग जाति के साथ ब्राह्मण जाति भी समाजवादी पार्टी के साथ है हम समाजवादी लोग बराबरी की बात करते हैं। निश्चित तौर पर हम पुनः जीत कर आएँगे तथा समाज को नयी दशा व दिशा दिखाने का काम करेंगे।कार्यक्रम में मुख्य रूप से विनोद कुमार पाण्डेय, प्रत्यूष चतुर्वेदी, मोहित चतुर्वेदी, राहुल मौर्या, पदमाकर पाण्डेय, जितेन्द्र पाण्डेय, निर्मल मिश्रा, दिलीप मिश्रा, आलोक मिश्रा, ज्ञानेश्वर श्रीवास्तव, डॉ. दिनेश प्रताप, सुरेन्द्र राजभर, मनु प्रताप सिंह (एडवोकेट), राजू निषाद, सचिन पाण्डेय, शैलेंद्र यादव शैलु, प्रमोद यादव अमित प्रजापति, मुकुल यादव, रामजीत यादव, बालकराम विश्वकर्मा, रणधीर मौर्या, रंजीत मौर्या सहित अन्य सैकड़ों लोग चौपाल में सम्मिलित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित