प्रदीप निषाद ने पेश की कांग्रेस पार्टी से गोसाईगंज विधानसभा प्रत्याशी की दावेदारी 

1 min read

प्रदीप निषाद ने पेश की कांग्रेस पार्टी से गोसाईगंज विधानसभा प्रत्याशी की दावेदारी 

अयोध्या/फैजाबाद, राजू निषाद(अवधी खबर)। जनपद में विधानसभा का चुनाव नजदीक आ रहा है वैसे वैसे उम्मीदवार अपनी दावेदारी जता रहे हैं। पूरे उत्तर प्रदेश में इस समय मछुआ समुदाय को सभी राजनैतिक पार्टियां अपने पाले में करने में लगी हैं। उसकी कर्म में कांग्रेस पार्टी भी कुछ माह पहले इलाहाबाद से बलिया तक नदी अधिकार यात्रा निकाली थी। पूर्वांचल में नदी के किनारे इस इस समाज के लोग रहते हैं। कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव उत्तर प्रदेश के प्रभारी लोकसभा के चुनाव में वाराणसी में नदी अधिकार यात्रा के दौरान, वहां के नाविक की पुत्री की शादी में अपना उपहार वेट किया था। अभी हाल ही में इलाहाबाद में प्रशासन द्वारा तोड़ी गई नावों को नई वह पुनः मरम्मत कराकर नाविकों को सौंपी थी। इसी क्रम में अध्योध्या जिले में गोसाईगंज विधानसभा मछुआ समुदाय की आबादी काफी है, यह विधानसभा पहले भी कांग्रेस पार्टी के लिए ऊर्जावान जमीन साबित हुई थी। इसके पहले बीकापुर विधानसभा से पूर्व मंत्री सीताराम निषाद ने प्रतिनिधित्व किया था। ढाई दशकों तक कांग्रेस पार्टी और समाजवादी पार्टी के लिए सीताराम निषाद अपनी जाति के साथ जिस दिल में रहे उसके लिए मुनाफिस रहे। इसी कारण प्रदीप निषाद भी अपनी दावेदारी जता रहे हैं। वर्तमान में प्रदीप निषाद कांग्रेस पार्टी के जिला महासचिव और बीकापुर विधानसभा के प्रभारी मछुआरा प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष का कार्यभार देख रहे हैं। कल जिले में पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद मेनिफेस्टो कमेटी के चेयरमैन, सुप्रिया श्रीनेत राष्ट्रीय प्रवक्ता कांग्रेस पार्टी, डॉ निर्मल खत्री पूर्व सांसद पूर्व राष्ट्रीय सचिव, आराधना मिश्रा मोना कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता, व जिले के प्रभारी हनुमंत विश्वकर्मा, को अपना उम्मीदवारी का आवेदन सौंपा और मांग किया कि अति पिछड़े समाज से आने वाले उम्मीदवार बनाया जाए।आवेदन की एक प्रति जिला अध्यक्ष अखिलेश यादव को सौंपा। कांग्रेस पार्टी को सत्ता में लाने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ सही उम्मीदवार का चयन किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित