दलित नाबालिक लड़की के साथ हुआ दुष्कर्म , स्थानीय पुलिस लीपापोती में जुटी …

1 min read

दलित नाबालिक लड़की के साथ हुआ दुष्कर्म , स्थानीय पुलिस लीपापोती में जुटी …

आरोपी पुलिस हिरासत में पर पुलिस प्राथमिकी दर्ज़ करने में हीलाहवाली ….

मामला दो समुदाय से सम्बंधित होने के कारण बिगड़ सकता है साम्प्रदायिक सौहार्द …

दो दिनों से पीड़िता लगा रही है थाने का चक्कर , नहीं मिला अभी तक न्याय 

अम्बेडकरनगर। जनपद का थाना अहिरौली इस समय पूरी तरह अराजकतत्वों के गिरफ़्त में होकर स्थानीय प्रशासन को बेबस व लाचार कर रखा है ।
स्थानीय पुलिस एवं अराजकतत्वों की गलबहियां इतनी मजबूत हो चली है कि बेबस व लाचार पीड़ितों को न्याय के चौखट पर पहुंचना दुश्वार हो चला है । अल्पीकरण में माहिर स्थानीय पुलिस नजराने के बल न्याय को पैसे की दासी बनाकर रख दिया है । जिसका परिणाम यह हो रहा है कि पीड़ित को जेल के सलाखों व मुजरिम खुलेआम घूमकर पीड़ित को जान से मारने की धमकी दे रहें हैंं ।
ऐसा ही एक उदाहरण उस समय सामने आया जब उक्त थाने की ग्राम सभा सुरजू पुर की दलित एवं नाबालिक निवासिनी के साथ प्रतापपुर चमुर्खा के मुस्लिम समुदाय के दो लड़के ने जबरदस्ती दुष्कर्म किया । जिसकी लिखित सूचना पीड़िता द्वारा स्थानीय थाने पर दो दिन पहले दिया जा चुका है । पर अभीतक थानाध्यक्ष द्वारा कोई उचित कार्यवाही नहीं की जा सकी । जबकि मुख्य आरोपी पुलिस के हिरासत में है । चूंकि मुस्लिम समुदाय का उक्त आरोपी कुछ सफेदपोशों के छत्रसाये में है । इसलिए स्थानीय पुलिस दलित पीड़िता को न्याय दिलाने के एवज़ में उसकी खोयी हुई इज्जत का सौदा करने में जुटी है । पीड़िता को तहरीर बदलने पर पुलिस द्वारा निरन्तर दबाव बनाया जा रहा है । पीड़िता व आरोपी के अलग अलग समुदाय होने के कारण इसे कुछ लोग साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के लिए भी हवा दे रहें हैंं । पर स्थानीय पुलिस अल्पीकरण व मैनेज के खेल में पूरी तरह मुतमईन हो मशगूल है । दो दिनों से पीड़िता थाने का चक्कर लगा रही है । पुलिस की रवैये से पीड़िता के न्याय की आस कमजोर हो चली है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित