बिजली विभाग की हठधर्मिता व संवेदनहीनता से कोटवा किरूनीपुर बना टापू 

1 min read

बिजली विभाग की हठधर्मिता व संवेदनहीनता से कोटवा किरूनीपुर बना टापू 

जलनिकासी व मुख्य मार्ग हुआ पूर्णतया बन्द टूटे अन्य गांवों से सम्पर्क …

सरदार सेना ने जताया विरोध धरना देकर निदान के लिए सौंपे ज्ञापन …

विजय चौधरी / सह संपादक

अम्बेडकरनगर। बिजली विभाग में हठधर्मिता व संवेदनहीनता इस कदर हाबी हो चुकी है उसे आम जनता के सुविधा से कोई सरोकार नहीं रहा ।
जनपद मुख्यालय से सटी ग्राम सभा कोटवा किरूनी पुर व गौस पुर के आवागमन व जलनिकासी के लिए बनायी पुलिया तोड़कर उस बिजली के पोल को आड़ा तिरछा लगा देने से एक तरफ़ जहाँ उक्त ग्राम सभाओं का जल निकासी पूर्णतया अवरुद्ध होकर गांवों की गलियां जलमग्न हो गयीं वहीं ग्रामीणों के आवागमन का इकलौता रास्ता भी अवरुद्ध हो गया है । समस्त गांव वासी नरकीय जीवन जीने को मजबूर हो चलें हैंं ।
विभागीय संवेदनहीनता से आक्रोशित सरदार सेना ने कलेक्ट्रेट परिसर में धरना देते हुए टापू बने उक्त ग्रामवासियों को नारकीय जीवन से अतिशीघ्र निदान कराने की मांग करते हुए प्रशासन को ज्ञापन सौंपा ।


इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष सहित जिलाध्यक्ष चंद्रसेन वर्मा , विनोद वर्मा , अमन पटेल , सत्य प्रकाश चौधरी , विनय चौधरी , राम कृष्ण वर्मा , जवाहिर गुप्ता , भरत राज वर्मा , मुकेश सहित अन्य लोग मौजूद रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित