अल्लाह ने लिया है अजादारी की हिफ़ाज़त का ज़िम्मा : मौलाना अकबर अली

1 min read

अल्लाह ने लिया है अजादारी की हिफ़ाज़त का ज़िम्मा : मौलाना अकबर अली

अंबेडकरनगर। अजादारी की सुरक्षा का उत्तरदायित्व खुदावंदे आलम ने स्वयं लिया है। इस प्रकार जब तक तलक अजादारी रहेगी अजादार भी बाकी रहेंगे।
उक्त तथ्य मौलाना अकबर अली वायज जलालपुरी ने मीरानपुर में कही। मरहूम मौलाना जुल्फेकार हुसैन के अजाखाने में इस्तेकबाले अजा की मजलिस को खेताब करते हुए मौलाना ने कहा ये मजलूम का मातम है जिसे फर्श वालों के अलावा अर्श वाले भी अंजाम देते हैं। मौलाना अकबर अली ने बुधवार को पहली मोहर्रम की मजलिस मोहम्मद अस्करी नकवी व शाहिद हुसैन खान के अजाखाने में संबोधित किया। मौलाना जुहैर अब्बास ने कल्बे आबिद जैदी के आवासीय इमामबाड़े में और मौलवी जर्रार हुसैन ने सदर इमामबाड़े में मजलिस को संबोधित किया। काजिम, रजी, हसनैन आदि ने नौहाखानी किया।
उधर टांडा तहसील क्षेत्र के मौजा दहियावर स्थित इमामबाड़ा रौशन अली में मौलाना इब्ने अब्बास रिजवी जैदपुरी ने संबोधित करते हुये कहा मोहर्रम की मजलिसों में संपूर्ण मानवजाति के लिए मानवता के संदेश प्रसारित किए जाते हैं। कर्बला फिरकावारियत का नहीं बल्कि इंसानियत का शिक्षण केंद्र है। इसके अतिरिक्त कस्बा जलालपुर, किछौछा, बसखारी, हंसवर, टांडा, इल्तिफातगंज एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में भी मोहर्रम की मजलिसों से गम के आसार नमूदार हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित