खाक़ी वर्दी व बूटों की हनक से सिसकता अकबरपुर पुरानी तहसील तिराहे का मुसाफ़िर इंतजार स्थल ….

1 min read

खाक़ी वर्दी व बूटों की हनक से सिसकता अकबरपुर पुरानी तहसील तिराहे का मुसाफ़िर इंतजार स्थल ….

दुश्वारियां झेलने को मजबूर हो चलें है यात्री …

जनपद के आलाधिकारियों को भी नहीं रही इसकी परवाह …

विजय चौधरी / सह संपादक

अम्बेडकरनगर। जनपद अम्बेडकर नगर मुख्यालय का सबसे व्यस्ततम पुरानी तहसील तिराहे पर यात्रियों की सुविधा के लिए बनाया गया प्रतीक्षालय इस समय पूरी तरह खाक़ी वर्दी के आगोश में आ चुका है । यात्रियों को खुले आसमान के नीचे सड़क पर उतर कर बरसात व उमस भारी गर्मी को झेलने के लिए मज़बूर होना पड़ रहा है ।
ज्ञात हो कि जनपद मुख्यालय का यह अति व्यस्ततम क्षेत्र जहाँ से जनपद के आलाधिकारियों व विशिष्टगणों का प्रतिदिन आवागमन लगा रहता है । फिर भी किसी को इन राहगीरों की परेशानी से कोई वास्ता नहीं दिखता ! जबकि पूरी तरह से यह स्थल सड़क के दोनों तरफ की पटरी पूरी तरह अतिक्रमण की चपेट से हमेशा घिरा रहता है । हद तो तब हो गयी जब उक्त यात्री प्रतीक्षालय खाक़ी ने अपने कब्जे में लेते हुए उसमें ताला जड़ दिये , यात्री को निर्वसन कर सड़क पर लाकर इस बरसात के मौसम में भीगने व उमस भरी गर्मी से तड़पने को मजबूर कर दिया । पूरी तरह से अतिक्रमित हो चुकी सड़क के पटरी के मनबढ़ , सरकस व गिरोहबंद दुकानदारों से आये दिन अपमानित हो रहें हैंं । सबसे असहनीय स्थित उस समय उभर कर सामने आती है जब बुज़ुर्ग , नौनिहाल जहाँ तड़पते नज़र आतें हैंं ! साथ पर्दानशीन महिलाएं इन बेअदब दुकानदारों के सलीके से खुद को असहज होकर दुश्वारियां झेलने को मजबूर हो रहीं हैंं । वह भी कानून के रखवाले खाक़ी के सामने ही । जबकि इसी रास्ते से दिन कई बार जनपद के आला अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों का आवागमन बना रहता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित