ग्रामीणांचल में घुमंतू टीम के चोरी का कहर जारी , दर्जनों लोगों को बना चुके अपना शिकार ….

1 min read

ग्रामीणांचल में घुमंतू टीम के चोरी का कहर जारी , दर्जनों लोगों को बना चुके अपना शिकार ….

लम्बे नेटवर्क होने का अंदेशा ….

लिखित शिकायत के बावज़ूद पुलिस बनी निष्क्रिय …

विजय चौधरी / सह संपादक

अम्बेडकरनगर। जनपद के अहिरौली थाना अन्तर्गत घुमंतू टीम का कहर इस समय जारी है । टीम द्वारा अबतक लगभग आधा दर्जन गांवों में दर्जनों लोगों को अपना शिकार बनाया जा चुका है । पीड़ितों द्वारा स्थानीय थाना अहिरौली पर लिखित सूचना दिये जाने के उपरान्त भी निष्क्रिय बनी पुलिस द्वारा घटना की तहकीकात करने की भी जरूरत नहीं समझी जा रही है । ग्रामीणों द्वारा पकड़े गये चोर को पुलिस को दिये जाने पर भी स्थानीय प्रशासन कठोर कार्यवाही करने के बज़ाय छोड़ दिया गया ।

मिली जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र अहिरौली अन्तर्गत शाह पुर पारसी , अमसिन , हाथपाकड़ , राम नगर जमदरा सहित कई गांवों के दर्जनों लोगों को इन घुमंतू टीम द्वारा अपने चोरी के शिकार अबतक बनाया जा चुका है ।
भुक्तभोगी के अनुसार इस घुमंतू टीम ने गत 21 जुलाई की रात्रि अमसिन थाना गोसाईगंज व 19 जुलाई की रात्रि शाहपुर परासी थाना अहिरौली में चार घरों पर धावा बोलकर नकदी व कीमती सामान चोरी की । हाथपाकड़ ग्राम सभा के तीन घरों पर धावा बोलकर 4 मोबाइल व नकदी पर हाथ साफ किये । इसी रात्रि लगभग एक से तीन बजे के बीच ग्राम सभा राम नगर जमदरा के प्रदीप वर्मा के घर से दो मोबाइल एवं 5000 नकदी , एक अदद अंगूठी , राम नायक वर्मा के घर से एक मोबाइल 500 रुपया नकद , अरुण गु्प्ता के घर से एक मोबाइल 250 रुपये नकद व इसरार के घर से एक मोबाइल एवं 300 रुपये नकदी पर हाथ साफ किये ।
सभी भुक्तभोगियों द्वारा स्थानीय थाने पर लिखित सूचना दिये जाने के उपरान्त भी अहिरौली पुलिस एक सप्ताह बीत जाने पर भी पीड़ित के घर तक पहुंचना भी मुनासिब नहीं समझी । पुलिस की निष्क्रियता का आलम यह है कि गत 21 जुलाई की रात्रि लगभग ग्यारह बजे राम नगर जमदरा निवासियों द्वारा एक चोर को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया जिसे पुलिस ने गूंगा बताकर छोड़ दिया । जबकि ग्रामीणों का कहना है कि चोर जब पकड़ा गया तो वह ग्रामीणों को गाली दे रहा था ।
स्थानीय पुलिस की निष्क्रियता एवं घुमंतू टीम द्वारा घटना पर घटना को निरन्तर अन्जाम दिये जाने से पूरा ग्रामीण क्षेत्र अपने को असुरक्षित महसूस करते हुए दहशत के साये में जीने को मजबूर हो चला है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित