शिक्षा के बिन बच्चों का भविष्य हैं अंधकार , पुनः विद्यालय खोला जाए : निर्मल बौद्ध

1 min read

शिक्षा के बिन बच्चों का भविष्य हैं अंधकार , पुनः विद्यालय खोला जाए : निर्मल बौद्ध

अयोध्या/फैजाबाद (राजू निषाद)। डॉक्टर अंबेडकर युवा संगठन ने 1 से 12 तक स्कूल कॉलेज खोले जाने व फीस माफ किए जाने की मांग को लेकर भूख हड़ताल संगठन के अध्यक्ष निर्मल बौद्ध के स्वास्थ्य बिगड़ने पर जिला अस्पताल में भर्ती किया गया। कोरोना के कारण बंद पड़े विद्यालयों को पुनः खोले जाने की मांग को लेकर तिकोनिया पार्क में संगठन के पदाधिकारियों के साथ भूख हड़ताल धरने पर बैठे हैं। निर्मल बौद्ध बताया कि सरकार ने ठेके को खोल के रखा है। और विद्यालयों को बंद करके इसको पुनः चालू करने के लिए हम लोग कई बार ज्ञापन दिए थे। जिस पर कोई कार्यवाही ना होने पर भूख हड़ताल पर आने पर विवश किया गया। अगर विद्यालयों में पढ़ाई नहीं हुई है तो उनकी फीस भी नहीं वसूली जानी चाहिए। उन्होंने बताया जब रेल बस सेवाएं, हवाई सेवाएं बाजार मॉल हर स्थान खोल दिए गए हैं तो विद्यालयों को खोला जाना चाहिए। जिससे देश के भविष्य बच्चों का अंधकार में ना हो। भूख हड़ताल से सभी आंदोलनकारियों का स्वास्थ्य खराब होने से जिला चिकित्सालय में प्रशासन के द्वारा भर्ती कराया गया। आंदोलनकारियों में सूरज बौद्ध, सूरज बौद्ध ,दिलीप बौद्ध ,आकाश कुमार ,पंकज कुमार, धर्मेंद्र कुमार व अन्य लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित