हमारी संस्कृति व संस्कारों से वृक्षों का है गहरा नाता : डॉ ओ पी चौधरी

1 min read

हमारी संस्कृति व संस्कारों से वृक्षों का है गहरा नाता : डॉ ओ पी चौधरी

जौनपुर (अवधी खबर)। महामहिम राज्यपाल,उत्तर प्रदेश द्वारा नामित सदस्य,कार्य परिषद, वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर,गांधी पीस फाउंडेशन नेपाल द्वारा पर्यावरण योद्धा सम्मान से सम्मानित,सचिव,सहयोगी,यूजीसी द्वारा संचालित गांधी अध्ययन केंद्र के पूर्व निदेशक ,श्री अग्रसेन कन्या पी जी कॉलेज वाराणसी के मनोविज्ञान विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर, एवं विद्वत परिषद के सदस्य सचिव डा ओ पी चौधरी ने राज्य सरकार के वृक्षारोपण जन आंदोलन -2021 के अंतर्गत एवम् महामाहिम राज्यपाल/कुलाधिपति आनंदी बेन पटेल की प्रेरणा से आज वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर परिसर में आम,मौलि श्री,नीम का कुल 16 पेड़ लगाते हुए कहा कि प्राचीन काल से ही हमारे सामाजिक आर्थिक,धार्मिक क्रिया कलापों में वृक्षों का अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान रहा है।हमारे त्योहार,सामाजिक व्यवहार,उत्सवों,रीति रिवाजों,परंपराओं, में पेड़ों का बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान रहा है। वृक्ष हमारी संस्कृति,सभ्यता और संस्कारों में रचे बसे हैं। पारिस्थितिकी संतुलन,पर्यावरण के संरक्षण,जैव विविधता को बनाए रखने, खाद्य सुरक्षा तथा धारणीय विकास में वृक्षों का महत्व अत्यंत अधिक है। स्वस्थ और प्रसन्न जीवन की कल्पना बिना पेड़ पौधों के करना बहुत बड़ी भूल है।पूर्वांचल विश्व विद्यालय जौनपुर की कुलपति प्रो निर्मला सिंह मौर्य ने पर्यावरण संरक्षण के लिए सभी को आज आने का आह्वान किया और कहा कि यदि जीवन बचाना है तो वृक्षारोपण कार्यक्रम को सफल बनाना ही होगा।वृक्ष प्राणियों के अस्तित्व का आधार है। कुलपति जी ने डा चौधरी की इस पहल का स्वागत किया और उनके इस कार्य में पहल करने के लिए साधुवाद भी दिया।

महामहिम राज्यपाल द्वारा नामित कार्य परिषद सदस्यों प्रो महक सिंह,प्रो चंद्र मोहिनी चतुर्वेदी एवं कुलसचिव महेंद्र कुमार,वित्त अधिकारी सुनील कुमार सहित कार्य परिषद के सदस्यगण- प्रो अशोक सिंह,प्रो सुशील गौतम, डा समर बहादुर सिंह, डा आनंद सिंह, डा सविता भारद्वाज, डा रवींद्र नाथ राय, डा राजकुमार, डा सुरजीत कुमार तथा राष्ट्रीय सेवा योजना के समन्वयक डा राकेश कुमार यादव, डा विनय कुमार वर्मा, डा के एस तोमर, डा शशिकांत यादव, डा लक्ष्मी प्रसाद मौर्य, डा जान्हवी श्रीवास्तव,श्याम श्रीवास्तव,सुशील प्रजापति,अशोक चौहान, डा राजेश सिंह,धीरज श्रीवास्तव की सहभागिता रही।ध्यातव्य है कि डा चौधरी ने कार्य परिषद के बैठक की सूचना मिलते ही कुलसचिव जी को और सहायक श्याम श्रीवास्तव को पेड़ लगाने के अपने इरादों से अवगत करा दिया था।पर्यावरण की सुरक्षा और प्राणवायु की आवश्यकता को देखते हुए पेड़ों की
संरक्षा अत्यंत आवश्यक है। सम्पूर्ण कार्यक्रम राष्ट्रीय सेवा योजना तथा उद्यान विभाग,पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर के सौजन्य से संपन्न हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *