सद्व्यवहार से बनता है समाज में रुतबा : मौलाना गुलजार जाफरी

1 min read

सद्व्यवहार से बनता है समाज में रुतबा : मौलाना गुलजार जाफरी


अंबेडकरनगर। समाज में इंसान का रुतबा धन दौलत से नहीं बल्कि उसके आचार्य विचार अच्छे किरदार और परोपकार से होता है। ऐसे ही थे मरहूम मौलाना सना अब्बास जैदी। यही कारण है कि आज उन्हें शिद्दत से याद किया जा रहा है।
उक्त विचार मौलाना गुलजार हुसैन जाफरी तारागढ़-अजमेर ने मुहल्ला बागीचा-इल्तिफातगंज स्थित हुसैनी इमामबाड़े में नजमुल हसन आदि की ओर से मरहूम मौलाना सैयद सना अब्बास जैदी इब्ने सैयद जुहैर अब्बास जैदी के पुण्य के लिए आयोजित मजलिस को संबोधित करते हुए मौलाना गुलजार हुसैन जाफरी तारागढ़-अजमेर ने कही। उन्होंने आगे कहा मजहब अदावत, घृणा या मनमुटाव का नहीं बल्कि आपसी मेलजोल भाईचारगी और मानवता का पक्षधर है। आरिफ अनवर अकबरपुरी ने संचालन किया। मौलाना जफर अली, मौलाना नूरूल हसन, मौलाना मुहम्मद अली गौहर, मौलाना गुलाम मुर्तजा, ख्वाजा शफाअत हुसैन, अयाज हैदर जैदी, आरिज मेहदी जैदी, अबरार हुसैन आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित