जिला पंचायत अध्यक्ष की दौड़ सबसे तेज चलने वाले साधू वर्मा अंततः भाजपा के हमराह हुए ….

1 min read

जिला पंचायत अध्यक्ष की दौड़ सबसे तेज चलने वाले साधू वर्मा अंततः भाजपा के हमराह हुए ….

पूर्वान्चल की सियासत के केन्द्र रहे साधू वर्मा चार सत्र सफल नेतृत्व कर चुकें हैंं जिला पंचायत का …

साधू वर्मा की कठिन तपस्या व त्याग उन्हें फतेह देगा …चन्द्रप्रकाश वर्मा जिला उपाध्यक्ष भाजपा


विजय चौधरी / सह संपादक

अम्बेडकरनगर। त्री पंचायत चुनाव जहाँ सत्ता के लिए प्रतिष्ठापरक बन चुका है वहीं इसी प्रसंग को लेकर ही पूरे पूर्वांचल की सियासत ही गर्म हो चली है । यहाँ तक कि बसपा को मेजर ऑपरेशन भी करना पड़ा । जिसकी धमक का खौफ़ सपा में भी स्पष्ट दिखायी दे रही है । पलपल बदल रहे इस घटनाक्रम ने नित नये गुल खिला रहें हैंं ।
इसी बीच जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव की घोषणा होते ही सियासी शतरंज और तेज हो चली । जनपद की जिला पंचायत अध्यक्ष पद पिछड़ी जाति के लिए सुरक्षित हो जाने से सपा , बसपा व सत्तासीन भाजपा सभी यह पद हथियाने के जुगत में लग गये । परन्तु अध्यक्ष पद अमूमन सत्ता के ही पक्ष में रहा है इसलिए जनपद में भाजपा को स्थानीय जनता द्वारा पूरी तरह नकार दिये जाने के बाद भी सभी दावेदार भाजपा के ही उम्मीदवार बनने के लिए अपने ईस्ट नेता की चरण वंदना में लग गये । नतीजा यह रहा कि चार बार से जिला पंचायत सदस्य रहे बसपा से टिकट से उपेक्षित निर्दलीय सदस्य साधू वर्मा ने जनपदीय बड़ी लॉबी भाजपा को विश्वास में लेकर भाजपा के हमराह होकर टिकट की रेस में सबसे आगे हो लिए हैंं । सूत्र तो यहाँ तक मिल रहें हैंं कि साधू व्यवहार से प्रभावित होकर उन्हें सभी दलों व निर्दलीय सभी सदस्यों का समर्थन मिल रहा है । आधे से अधिक सदस्य अभी से उन्हें अपना प्रमाणपत्र सौंपने को लालायित बैठें हैंं ।
साधु वर्मा के भाजपा ज्वाइन करने से पूर्व विधानसभा प्रत्याशी चन्द्रप्रकाश वर्मा ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उन्हें अग्रिम बधाई देते हुए शुभकामना व्यक्त की है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित