जीवनदायनी ऑक्सीजन की पूर्ति के लिए वृक्षारोपण जरूरी : आकाश पाण्डेय

1 min read

विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने भी किया वृक्षारोपण

जीवनदायनी ऑक्सीजन की पूर्ति के लिए वृक्षारोपण जरूरी : आकाश पाण्डेय ..जिला संयोजक ए बी वी पी

विजय चौधरी / सह संपादक

अम्बेडकरनगर। आज जहाँ पूरी दुनियां वैश्विक आपदा से जूझ रहा है । समस्त संसार अपना पर्यावरण संतुलन खोने देने के कारण मानव समाज की जीवनदायनी ऑक्सीजन की कमी हो गयी है । जिससे ऑक्सीजन के अभाव में लोगों की जीवनलीला समाप्त हो रही है । ऐसे में पर्यावरण के संरक्षण का संकल्प लेकर विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर मानव समाज व पर्यावरण के कल्याण के लिए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह वृक्ष लगाये ।
यह अभियान पूरे जिले में एबीवीपी जिला संयोजक आकाश पाण्डेय के नेतृत्व में जगह-जगह वृक्ष लगाकर चलाया गया। ज़िला संयोजक आकाश पाण्डेय ने बताया कि इसी कड़ी में जिले के सार्वजनिक स्थान पर आम व नीम, वेल एवं कई ऑक्सीजन देने वाले पौधे कार्यकर्ताओं द्वारा लगाए गए । साथ ही जिले में प्लास्टिक मुक्त अभियान को लेकर गांव से शहर तक हर स्कूल एवं कालेजों में जाकर कार्यकर्ता लोगों को जागरूक करेगें । सभी विद्यार्थी समुदाय को जागरूक करते हुए पलास्टिक के स्थान पर स्टील, मिट्टी, कागज़ की बनी वस्तुओं का इस्तेमाल करने का सुझाव दिया गया । अवध प्रांत उपाध्यक्ष डॉ देवेंद्र मिश्रा ने बताया कि विद्यार्थी परिषद पर्यावरण की सुरक्षा के लिए निरंतर प्लास्टिक मुक्त समाज किट बात करती रही है। कोविड़ संकट काल में भी हम पूरी तरह से कागज़ से बने दोना , पत्तल का ही इस्तेमाल करने का आग्रह किया । उन्होंने कहा कि यह अभियान पर्यावरण सुरक्षा के दृष्टि से अति महत्वूर्ण है। बीते कुछ वर्षों में हमने अभियान को गांव गांव तक पहुंचाने का कार्य किया है।
इस अभियान में मुख्य रूप से अभिषेक दुबे, राजन सिंह, देवेश अग्रहरी, शिवम् पाण्डेय, राहुल रमन, मोहन तिवारी, केतन यादव, रजनीश पाण्डेय, विकास यादव, उत्कर्ष श्रीवास्तव, प्रियम श्रीवास्तव, आदर्श पांडे, उमंग माझी, शिवम् पाण्डेय, अतुल सोनी, गोलू श्रीवास्तव, प्रशांत उपाध्याय, हिमांशु कुमार आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित