आबिद ने एक बार फिर पेश की मानवता की मिसाल, सऊदी में फसें युवक को कराया वतन वापसी

1 min read

आबिद ने एक बार फिर पेश की मानवता की मिसाल, सऊदी में फसें युवक को कराया वतन वापसी

अम्बेडकरनगर। उत्तर प्रदेश के गिरीश चंद्र प्रजापति सऊदी के अल सुलैल शहर में काफी दिनों से फंसे हुए थे जिसे उसके कफील ने माली के काम के लिए भारत से बुलाया था लेकिन माली का काम ना देते हुए उसे खेती का काम करवा रहा है। गिरीश बहुत परेशान थे वहां क्योंकि उसको सैलरी भी नहीं दी जा रही थी ना ही भारत आने दिया जा रहा है उसे टॉर्चर भी किया जा रहा है। गिरीश के भाई सतेंद्र ने रुद्रपुर पुर भगाही अम्बेडकर नगर के सैयद आबिद हुसैन से संपर्क किया। आबिद हुसैन ने भारत सरकार विदेश मंत्रालय इंडिया सऊदी एंबेसी रियाद को लेटर भेज कर गुजारिश की के गिरीश कुमार को भारत भेजने में इनकी सहायता करें और आज लम्बी मशक्क़त के बाद 24 मई को गिरीश प्रजापति सकुशल भारत आ गये।
लेकिन गिरीश के स्पोंसर ने इन्हे कोई पैसे नहीं दिये जिसके लिए आबिद ने दुबारा एम्बेसी मेल किया है ताकि गिरीश की बकाया राशि उन तक पहोच सके लेकिन गिरीश की वतन वापसी से उनके परिवार में ख़ुशी की लहर है। उनका कहना है के जिस तरह गिरीश सऊदी में फसे उनका आना ही उनके लिए सबसे खुशी की बात है।
गिरीश ने एक विडिओ बना कर राजदूत डॉ औसाफ़ सईद और डॉ जय एस शंकर एवं भारत सरकार विदेश मंत्रालय सऊदी एंबेसी की पूरी टीम और आबिद हुसैन का शुक्रिया अदा किया और आबिद ने भी राजदूत डॉ औसाफ़ सईद और डॉ जय एस शंकर एवं भारत सरकार विदेश मंत्रालय सऊदी एंबेसी की पूरी टीम का शुक्रिया अदा किया।
और आबिद ने एक बार फिर सब लोगो से गुजारिश करता हूं कि ऐसे फर्जी एजेंटों से सावधान रहें और इनके जाल साजी में न आयें। विदेश जरूर जायें पर बहुत सतर्क और सुरक्षित हो कर जायें। एजेंट और एजेंसी व दस्तावेज की पूरी जांच पड़ताल कर के ही जायें और जाते ही सम्बंधित एम्बेसी एवं हाई कमीशन से जरूर संपर्क करें। ताकि उनके साथ कोई भी दिक्कत आये तो एम्बेसी आपकी सीधे मदद कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित