भीटी विकासखंड में मतदान और मतगणना में हुई धांधली की शिकायत मुख्यमंत्री से

1 min read

भीटी विकासखंड में मतदान और मतगणना में हुई धांधली की शिकायत मुख्यमंत्री से

भीटी अंबेडकरनगर। अंबेडकर नगर जिले की भीटी तहसील के भीटी विकासखंड में मतदान और मतगणना में हुई धांधली की शिकायत 6 ग्राम पंचायतों के कथित रूप से जबरन हराए गए प्रत्याशियों के द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की गई है। पहले आईजीआरएसऔर ई मेल से उसके बाद रजिस्टर्ड डाक से प्रार्थना पत्र भेजकर उप जिलाधिकारी की अदालत से पुनः मतगणना का आदेश आने तक मतदान और मतगणना की समस्त सामग्री उच्च स्तरीय अधिकारियों की देखरेख में सुरक्षित कराए जाने की मांग करते हुए पूरे घटनाक्रम की जांच कराने सीसीटीवी कैमरा की रिकॉर्डिंग सार्वजनिक करके दोषियों को दंडित किए जाने की मांग की गई है।


उल्लेखनीय है भीटी विकासखंड के कन्या इंटर कॉलेज पर हुई मतगणना में बड़े पैमाने पर धांधली किए जाने की शिकायत अधिकारियों कर्मचारियों से की गई लेकिन पीड़ितों की बात का किसी भी अधिकारी के द्वारा संज्ञान नहीं लिया गया प्रत्याशी और उनके एजेंट रिकाउंटिंग की मांग करते रहे लेकिन खंड विकास अधिकारी भीटी अनुपम सिंह के बनाए हुए कार्यक्रम को किसी भी अधिकारी ने टच करने का प्रयास नहीं किया जो खंड विकास अधिकारी ने कहा वही आर ओ ए आर ओ और यहां तक कि उप जिलाधिकारी भीटी भूमिका यादव करती रही जिसका नतीजा यह हुआ कि 7 ग्राम पंचायतों से पुनः मतगणना के लिए उप जिलाधिकारी भीटी की अदालत में रिट याचिकाएं दाखिल की गई हैं। ग्राम पंचायत अढ़नपुर ग्राम पंचायत बेला ग्राम पंचायत जैतूपुर ग्राम पंचायत परियांये ग्राम पंचायत चंदौका ग्राम पंचायत जलालपुर सेहरा ग्राम पंचायत बौरे ग्राम पंचायत चतुरी पट्टी से रिट याचिकाएं दाखिल की गई है। उप जिलाधिकारी भीटी के द्वारा पार्टी बनाए गए प्रधान निर्वाचन अधिकारी भीटी खंड विकास अधिकारी भीटी ए आ रो भीटी को नोटिस जारी किया गया है और इस मामले की सुनवाई 29 मई 2021 को मुकर्रर की गई है।


लेकिन मुकदमा दायर करने वाले प्रत्याशियों राजेश सिंह बेला सवरन अढ़नपुर रिंकल सिंह जैतूपुर अंजू गुप्ता परियाये विजय कुमार दुबे चंदौका पूजा गौर जलालपुरसेहरा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजकर उपरोक्त अधिकारियों के विरुद्ध कार्यवाही किए जाने और मतगणना और मतदान से संबंधित समस्त अभिलेख उच्चाधिकारियों के देखरेख में सुरक्षित कराए जाने की मांग की है। क्योंकि इन लोगों को शक है कि जनपद के एक नेता इस पूरे मामले में काफी हस्तक्षेप करते देखे गए हैं।उनके द्वारा मतदान और मतगणना से संबंधित अभिलेखों में छेड़छाड़ कराया जा सकता है इसलिए प्रत्याशियों ने मुख्यमंत्री को प्रार्थना पत्र देकर उसकी प्रति मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश शासन राज्य निर्वाचन आयोग जिलाधिकारी अंबेडकरनगर मुख्य विकास अधिकारी अंबेडकर नगर जिला पंचायत राज अधिकारी अंबेडकर नगर लोकायुक्त उत्तर प्रदेश को भेजकर उपरोक्त मामले की जांच कराने सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग सार्वजनिक और सीसीटीवी कैमरे और संबंधित अधिकारियों के टेलीफोन की जांच की मांग की है। इन प्रत्याशियों का कहना है केवल सीसीटीवी कैमरा की रिकॉर्डिंग और खंड विकास अधिकारी भीटी अनुपम सिंह उनके सहयोगी उमाशंकर सिंह आरो विनोद कुमार सिंह ए आर ओ इन लोगों के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल और सी डी आर निकालने के बाद इस पूरे प्रकरण में हुई व्यापक धांधली का पर्दाफाश हो जाएगा इसलिए उन्होंने मुख्यमंत्री से न्याय की मांग की है और इन प्रत्याशियों ने प्रेस से बात करते हुए आशा जताई है। भ्रष्टाचार अत्याचार लूट डकैती के खिलाफ सत्ता में आई भाजपा की सरकार और उसके मुखिया योगी आदित्यनाथ इस प्रकरण में उचित कानूनी कार्यवाही करके भ्रष्ट लोगों को सबक देने का काम करेंगे और पीड़ितों को न्याय दिलाने का कार्य करेंगे जिससे पीड़ित वंचित लोगों का विश्वास शासन सत्ता के प्रति दोबारा बना रह सके। इन प्रत्याशियों का कहना है यदि मतगणना स्थल पर प्रत्याशी उनके एजेंट को मोबाइल लेकर जाने दिया गया होता तो इस धांधली के अनगिनत रिकॉर्ड बाहर आ गए होते धांधली करने के लिए ही किसी को मोबाइल अंदर नहीं ले जाने दिया गया और यहां तक कि लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहे जाने वाले पत्रकारों को भी अंदर जाने से रोक दिया गया। यदि इन अधिकारियों को ईमानदारी से मतगणना करानी थी तो आखिर मोबाइल ले जाने पर रोक क्यों लगाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित