उपजिलाधिकारी ने मिझौड़ा में निगरानी समिति के सदस्यों के साथ की बैठक …

1 min read

उपजिलाधिकारी ने मिझौड़ा में निगरानी समिति के सदस्यों के साथ की बैठक …

अप्रशिक्षित मिले आशा व आंगनबाड़ी को दिये प्रशिक्षण के निर्देश …

सफाईकर्मी को दिया अनुशासनिक कार्यवाही के निर्देश …

विजय चौधरी / सह संपादक

अम्बेडकरनगर। जनपद के विकासखंड भीटी अन्तर्गत ग्राम पंचायत मिझौड़ा में कोविड-19 महामारी के चलते निगरानी समिति की बैठक उपजिलाधिकारी भूमिका राज बहादुर यादव की अध्यक्षता तथा ग्राम प्रधान महेंद्र कुमार की उपस्थिति में सम्पन्न हुई। बैठक में जिले से बाहर से आए हुए व्यक्तियों का पंजीकरण आशा तथा आंगनबाड़ी द्वारा घर-घर सर्वे करके कोविड-19 व्यक्तियों की पहचान करने, असहाय तथा निर्धन लोगों को दवाओं का वितरण करने समेत अन्य विषयों पर विस्तार से चर्चा की गई।
उपजिलाधिकारी ने आशा तथा आंगनबाड़ी को इंफ्रारेड थर्मोमीटर तथा पल्स ऑक्सीमीटर के बारे में जानकारी दी। आशाओं ने बताया कि उन्हें इस संबंध में कोई प्रशिक्षण नहीं दिया गया है, जिस पर उपजिलाधिकारी ने अधीक्षक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से दूरभाष पर वार्ता कर तत्काल आशा तथा आंगनबाड़ियों को इंफ्रारेड थर्मामीटर तथा पल्स ऑक्सीमीटर के संबंध में जानकारी व प्रशिक्षण देने के निर्देश दिये। बैठक में लेखपाल मोहम्मद सलीम ने बताया कि गांव के सफाई कर्मचारी पर उदासीनता का आरोप लगाते हुए मनमौजी बताया । वह अपने को डीपीआरओ का रिश्तेदार वक्त बताता है , गांव में सफाई कार्य पर नहीं आता है। इस पर उपजिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारी भीटी अनुपम सिंह से दूरभाष पर वार्ता कर उसके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई का निर्देश दिया। बैठक में पूर्व प्रधान राजन खान, साधन सहकारी समिति के सचिव राकेश मिश्र, प्रधान चककोडार रईस खान, अख्तर व अन्य लोग मौजूद रहे। इसी क्रम में एसडीएम ने रायगंज तथा ग्राम पंचायत खेमापुर के धनवारी में भी निगरानी समिति की बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित