बसपा सुप्रीमो की सियासी कर्मभूमि रही आलापुर सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र में साफ हो गया बसपा का सूपड़ा

1 min read

बसपा सुप्रीमो की सियासी कर्मभूमि रही आलापुर सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र में साफ हो गया बसपा का सूपड़ा

परंपरागत मतदाताओं को सहेज पाने में विफल रहे पार्टी के जिम्मेदार पदाधिकारी परंपरागत मतदाताओं के बिखराव ने डुबो दी बहुजन समाज पार्टी की लुटिया

किसी भी जिम्मेदार बड़े पदाधिकारी ने मतदाताओं के बिखराव को रोकने के लिए नहीं उठाई जहमत

आलापुर -अंबेडकरनगर। बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो पूर्वमुख्यमंत्री सुश्री मायावती की सियासी कर्मभूमि रही आलापुर सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र में जिम्मेदार पदाधिकारियों की उदासीनता एवं परंपरागत मतदाताओं को सहेज पाने में विफलता तथा परंपरागत मतदाताओं के बिखराव के कारण बहुजन समाज पार्टी का जिला पंचायत में यहां सूपड़ा साफ हो गया आलापुर सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र में जिला पंचायत की 8 सीटों में से बहुजन समाज पार्टी एक भी सीट पर कामयाब नहीं हो पाई बहुजन समाज पार्टी के जिला उपाध्यक्ष श्री गोविंद निषाद जिला सचिव हरीश चंद्र गौतम समेत कई जिम्मेदार पदाधिकारी बुरी तरह चुनाव हार गए जिला उपाध्यक्ष श्री गोविंद निषाद चौथे स्थान पर भी नहीं पहुंच पाए और अन्य सीटों पर भी कमोवेश यही स्थिति रही बहुजन समाज पार्टी के परंपरागत मतदाता रामनगर मध्य एवं दक्षिणी सीट पर सजातीय प्रत्याशियों के पक्ष में लामबंद हो गए पार्टी द्वारा घोषित उम्मीदवारों की तरफ देखना तक गवारा नहीं समझा लिहाजा पार्टी द्वारा रामनगर मध्य सीट पर घोषित प्रत्याशी अजय तिवारी रामनगर दक्षिणी सीट पर घोषित प्रत्याशी श्री गोविंद निषाद रामनगर उत्तरी सीट पर घोषित प्रत्याशी पाल तथा पश्चिमी सीट पर घोषित प्रत्याशी बाबूलाल यादव को शर्मनाक पराजय का सामना करना पड़ा जहांगीरगंज विकासखंड की 3 सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित थी लेकिन उन तीनों सीटों पर भी बहुजन समाज पार्टी द्वारा घोषित प्रत्याशी बुरी तरह मात खा गए पार्टी के परंपरागत मतदाताओं के बिखराव का लाभ सपा एवं भाजपा प्रत्याशियों को मिल गया पार्टी को चुनाव नतीजों से मिली सबक से नसीहत लेकर आत्ममंथन एवं आत्म चिंतन तथा शीर्ष नेतृत्व को यहां अवलोकन करने की है जरूरत ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित