पूर्वांचल के गांधी अमर स्वतंत्रता सेनानी जयराम वर्मा की सुपुत्री का निधन

1 min read

पूर्वांचल के गांधी अमर स्वतंत्रता सेनानी जयराम वर्मा की सुपुत्री का निधन

डॉo ओo पीo चौधरी

अंबेडकरनगर। जनपद के बड़ागांव इब्राहिमपुर,टांडा निवासी उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री एवम् संसद सदस्य रहे स्मृतिशेष यशकायी जयराम वर्मा की सुपुत्री सावित्री वर्मा का कल लखनऊ में एक प्राइवेट हॉस्पिटल में शाम 4.30 बजे देहावसान हो गया।कल ही उनका अंतिम संस्कार भैंसाकुंड में हुआ मुखाग्नि उनके पति नलकूप विभाग से अवकाश प्राप्त अभियंता पारसनाथ चौधरी (निवासी कुसौरा, बस्ती) ने दिया। विगत वर्षों से अस्वस्थ चल रही सावित्री वर्मा अपने बड़े दामाद इंजी के सी वर्मा, मुख्य अभियंता,पी डब्लू डी के साथ गोमती नगर में रह रही थी। इनके दूसरे दामाद केंद्रीय जल आयोग,फरीदाबाद में पदस्थापित हैं,इस समय लखनऊ आ गए हैं। सुपुत्र डा अनिल वर्मा लंबे समय से अमेरिका में बतौर वैज्ञानिक कार्यरत हैं। कोविड के कारण वे आ नही सके। उनकी दोनो बेटियां श्रीमती सरोजिनी एवम् श्रीमती किरन अपनी मां की सेवा में पूरी तन्मयता से अंतिम समय तक लगी रही। चूंकि दोनों लोग इस दौरान कोविड से ग्रस्त हो गई हैं, इसलिए शांति पाठ या तेरहवीं का कार्यक्रम अभी फिलहाल स्थगित रखा गया है। कुसौरा बस्ती में पारसनाथ चौधरी जी के पूज्य पिताजी की स्मृति में झिनकू राम, त्रिवेणी राम चौधरी इंटर कालेज,कलवारी, बस्ती संचालित है।

(फाइल फोटो मृतक सावित्री वर्मा)

श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में अवध परिषद के संरक्षक  विपिन कुमार चौधरी,पूर्व पी सी एस अधिकारी,अवकाश प्राप्त डी आई जी, पुलिस लखनऊ डी के चौधरी,अवकाश प्राप्त डी आई जी, जेल बी आर वर्मा,अपर मुख्य स्थाई अधिवक्ता शत्रुघ्न चौधरी मा उच्च न्यायालय, लखनऊ हरीश चौधरी,सहायक निदेशक, कौशल विकास, सहित अनेक अभियंता, अधिकारी, अधिवक्ता एवम् समाज के गणमान्य लोग उपस्थित रहे। यह सूचना देते हुए अवध परिषद के प्रदेश समन्वयक डॉ ओ पी चौधरी ने बताया कि अपने फैजाबाद दिल्ली दरवाजा में रहने के दौरान कई बार दीदी के साथ रहने का मौका मिला था, विगत वर्षों से वे अस्वस्थ चल रही थी और लखनऊ में उनका इलाज चल रहा था। उन्होंने भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि एक मंत्री और सांसद की बेटी होते हुए भी, उन्हें इसका ज़रा सा भी अभिमान नहीं था। सौम्य, मृदुभाषी स्वभाव की धनी थी परोपकार उनको विरासत में मिली थी। प्रकृति गत आत्मा को शांति प्रदान करे,विनम्र श्रद्धांजलि🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित