2 वर्ष पूर्व हुए चर्चित व्यापारी हत्याकांड के आरोपीयों के ऊपर  पुलिस ने कसा शिकंजा, हुई बड़ी कार्रवाई

1 min read

2 वर्ष पूर्व हुए चर्चित व्यापारी हत्याकांड के आरोपीयों के ऊपर  पुलिस ने कसा शिकंजा, हुई बड़ी कार्रवाई

बसखारी अंबेडकरनगर। लगभग 2 वर्ष पूर्व क्षेत्र में हुए चर्चित व्यापारी नेता रामचंद्र हत्याकांड के आरोपीयों के ऊपर बसखारी पुलिस के द्वारा शिकंजा कसते हुए कुर्की की कार्रवाई की है। पुलिस एवं राजस्व टीम में हुई इस कार्रवाई में कुल एक करोड़ के लगभग की संपत्ति कुर्की की जद मे आने की बात पुलिस के द्वारा बताई गई हैं। जिलाधिकारी सैमुअल पाल एन के आदेश व पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी के निर्देशन में सोमवार की दोपहर बाद बसखारी थानाध्यक्ष श्रीनिवास पांडेय, तहसीलदार आलोक रंजन, नायब तहसीलदार प्रदीप सिंह सहित अन्य पुलिस बल और राजस्व कर्मियों की संयुक्त टीम ने सोमवार को रामजी सराय के शुकुल बाजर स्थित शिव प्रकाश मौर्य पुत्र राम भुवाल मौर्य के एक आवासीय मकान, फत्तेपुर गढ़ा में स्थित तालाब के किनारे भूखंड पर तथा प्रकाश इंटर कॉलेज मरौचा में कुर्की की कार्रवाई करते हुए स्कूल वैन व निजी लग्जरी वाहन को कब्जे में ले लिया। थानाध्यक्ष श्रीनिवास पांडेयने कुर्की कीकार्रवाई के दौरान बताया कि बगैर किसी आय के स्रोत के आरोपी शिव प्रकाश मौर्य अपराधिक प्रवृत्ति से अकूत अवैध संपत्ति बनाई थीं।

बता दें कि 19 जुलाई 2019 को बाइक पर सवार बेखौफ तीन बदमाश रामचंद्र जयसवाल के सिर व सीने में एक एक गोली दागकर कार्यालय में सोते समय दिनदहाड़े उनकी हत्या कर फरार हो गए थे। मृतक के भाई जयप्रकाश जयसवाल के प्रार्थना पत्र पर बसखारी थाना क्षेत्र के मरौचा निवासी शिवप्रकाश मौर्य व नरोत्तम मौर्य पुत्रगण राम भुवाल तथा सत्य प्रकाश मौर्य उर्फ रिंकू पुत्र राम निहाल मौर्य एवं दो अज्ञात के खिलाफ बलवा, हत्या समेत अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। साथ ही कुछ समय बाद इस मामले में पुलिस के द्वारा गैगेस्टर आयत की भी कार्रवाई की गई थी। यही नहीं इसके बाद मुख्य आरोपी शिव प्रकाश के विरुद्ध विद्यालय में छात्रवृत्ति फर्जीबाड़ा करने के आरोप में कूटरचित, धोखाधड़ी समेत अन्य गंभीर आरोपों में मुकदमा पंजीकृत हुआ था। इसके बाद सोमवार को बसखारी पुलिस एवं राजस्व की टीम ने उच्च अधिकारियों के दिशा निर्देशन में इनके विरुद्ध एक और शिकंजा कसते हुए कुर्की की कार्रवाई कर अपराधियों के प्रति कानून एवं शासन के कठोर कदम की सकारात्मक पहल प्रस्तुत की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित