आसन्न पंचायती चुनाव को लेकर बसपा ने 41 जिला पंचायत सदस्य के सापेक्ष 21 प्रत्याशियों की करी घोषणा …

1 min read

आसन्न पंचायती चुनाव को लेकर बसपा ने 41 जिला पंचायत सदस्य के सापेक्ष 21 प्रत्याशियों की करी घोषणा …
जरगम मेंहदी के पुत्र फ़रमान मेंहदी आरिफ़ बसपा समर्थन से किये गये वंचित ..

प्रतिष्ठा परक बनी कटेहरी द्वितीय व तृतीय की तस्वीर अभी भी स्पष्ट नहीं …

विनोद वर्मा / विजय चौधरी 

अम्बेडकरनगर। आसन्न पंचायती चुनाव को लेकर पूरे प्रदेश में शंखनाद हो चुका है । सपा व बसपा का अभेद्य दुर्ग बने अम्बेडकर नगर में भी चुनाव की सरगर्मी अपने पूरे शबाब पर आ चुकी है । हालांकि जनपद में चुनाव की तिथि अंतिम चरण यानी 29 अप्रेल को घोषित की जा चुकी है । अपनी वैतरणी पार करने हेतु जहाँ सत्तासीन भाजपा नयी इबारत लिखने की कशमकश में है । वहीं सपा व बसपा की अभेद दुर्ग बने जनपद में अपना वजूद बचाने के लिए जनता से निरन्तर सम्पर्क में रहकर अपने पक्ष में मनुहार कर रहें हैंं । समर्थित प्रत्याशियों के चयन में हो रहे देरी के कारण व दावेदारों की निरन्तर बढ़ती कतार के कारण जहाँ जिला पंचायत सदस्य के टिकट के निर्धारण में दलों के पसीने छूट रहें हैंं । वहीं कड़ी मशक्कत के बाद टिकट से वंचित हुए दावेदारों के बगावती तेवर भी उभरने लगे हैंं । हालांकि अभीतक प्रत्याशियों के चयन में बसपा अन्य सभी दलों से आगे है । फिर भी दशकों से बसपा के समर्थक रहे स्व .जरगाम मेंहदी के पुत्र फरमान मेंहदी आरिफ़ के टिकट से वंचित होने पर काफी चर्चा का कारण बना हुआ है । जनपद के 41 जिला पंचायत सदस्य के सापेक्ष 21 प्रत्याशियों की सूची बसपा द्वारा घोषित कर दी गयी । सबसे प्रतिष्ठा परक बनी कटेहरी द्वितीय जिससे निवर्तमान बसपा सदस्य जगदीश राजभर आज बसपा से निष्कासित होकर सपा के हमराह हो चलें हैंं । इस सीट को जहाँ बसपा हरहाल में बचाने की कोशिश में है , सपा के शरणागत हुए जगदीश का स्थानीय कमेटी में जबरदस्त विरोध भी चल रहा है । मजबूत जनाधार के बावजूद सपा शीर्ष नेताओं के स्वअहम भावना के चलते संगठनात्मक पकड़ ढीली होती नजर आ रही है । जिनके लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष के निर्देश भी कोई मायने नहीं रख रहें हैंं । जिससे दलीय निष्ठा भी तार तार होकर गैंग नजर आने लगी है । यही कारण है शायद सपा अपने प्रत्याशी घोषित करने में काफी पिछड़ती जा रही है । फिर इस चुनावी समर का नज़ारा बड़ा ही दिलचस्प होता जा रहा है । असली तस्वीर तो टिकट वापसी के बाद ही स्पष्ट हो सकेगें । पर इस पंचायती चुनाव में उतरे सभी प्रत्याशियों व उनके आकाओं ने अपने तरकश से सभी तरह के तीर अभी से छोड़ने शुरू कर दियें हैंं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित