परिश्रम से कुछ भी हासिल किया जा सकता है : प्रो रवि शंकर सिंह

1 min read

परिश्रम से कुछ भी हासिल किया जा सकता है : प्रो रवि शंकर सिंह

अम्बेडकरनगर। सरदार पटेल स्मारक इंटर कॉलेज लारपुर, अम्बेडकरनगर में विद्यालय के संस्थापक राम नरायन वर्मा की प्रतिमा के अनावरण व वार्षिक उत्सव के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय अयोध्या के कुलपति प्रो. रविशंकर सिंह ने कहा कि परिश्रम से कुछ भी हासिल किया जा सकता है। सुविधाओं को कमी का बहाना बनाना केवल एक बहकावा मात्र है। जो सरल है, सहज है, ईमानदार है, कर्तव्य निष्ट है उसे आगे बढ़ने से कोई रोक नहीं सकता है। ऐसे ही व्यक्तित्व के धनी थे राम नरायन वर्मा जी, जिनकी प्रतिमा का आज अनावरण हो रहा है। विशिष्ट अतिथि ओम प्रकाश वर्मा, आई ए एस, ने बच्चों को सफलता प्राप्त करने के अनेक टिप्स दिए, और खूब मेहनत से पढ़ने हेतु अपने विभिन्न अनुभवों व उद्धरणों के माध्यम से प्रेरित किया।विशिष्ट अतिथि के रूप में ही हरिश्चंद्र पी जी कॉलेज वाराणसी के इतिहास विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर एवं विभागाध्यक्ष डॉ विश्वनाथ वर्मा ने स्व राम नरायन वर्मा को एक कर्मयोगी बताते हुए शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान की चर्चा किया, और प्रेरणा का पुंज बताकर उनके सिद्धांतों पर चलने पर बल दिया। जिला विद्यालय निरीक्षक, अंबेडकरनगर रवीन्द्र सिंह,ने स्व वर्मा को जिले में शिक्षा के प्रसार हेतु उनकी सराहना किया। डी के चौधरी, आई पी एस (अ प्रा) ने अध्यक्षता करते हुए राम नरायन वर्मा जी के समाज और शिक्षा के क्षेत्र में किए गए प्रयासों की सराहना करते हुए उन्हें कर्तव्य निष्ठ, ईमानदार, परिश्रमी और शलाका पुरुष के रूप में याद किया। बी बी डी पी जी कॉलेज के पूर्व प्राचार्य एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के पूर्व प्रदेश समन्वयक प्रो एस बी सिंह ने वर्मा जी के जलालपुर ब्लॉक के संस्थापक ब्लॉक प्रमुख और तदन्तर कई वर्षों तक ब्लॉक प्रमुख के रूप में क्षेत्र के विकास व उनके सिद्धांत वादी राजनीति का उल्लेख किया।

अनावरण समरोह के प्रारंभ में ही विद्यालय के संस्थापक प्रधानाचार्य और कई महाविद्यालयों के प्रबंधक कमला प्रसाद वर्मा ने विद्यालय की स्थापना से जुड़े विविध प्रसंगों का उल्लेख करते हुए स्व वर्मा के विभिन्न संस्थाओं के स्थापना में संस्थापक व संस्थापक सदस्य के रूप में उनकी भूमिका का रेखांकन करते हुए कहा कि राम नरायन वर्मा का सम्पूर्ण जीवन शिक्षा व समाज सेवा को समर्पित रहा। वे शिक्षा के प्रचार प्रसार के प्रबल हिमायती थे। वे अत्यंत प्रगतिशील थे, बाल विवाह का आजीवन विरोध किया और सफलता भी प्राप्त किया। राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित पूर्व प्रधानाचार्य डॉ राम उजागिर वर्मा ने कहा कि स्व वर्मा, पूर्वांचल के गांधी अमर स्वतंत्रता सेनानी जय राम वर्मा के अनन्य सहयोगी थे,और राजनीति भी पूरी शुचिता के साथ करते थे। विद्यालय के प्रधानाचार्य रामराज वर्मा ने सभी अभ्यागतों का स्वागत अंग वस्त्रम व स्मृति चिन्ह देकर किया तथा विद्यालय की प्रगति आख्या भी प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन अजय कुमार वर्मा व उमेश चौधरी ने संयुक्त रूप से किया, धन्यवाद ज्ञापन विद्यालय के प्रबंधक और अवकाश प्राप्त एसोसिएट प्रोफेसर, सैन्य अध्ययन डॉ नन्द लाल चौधरी ने किया। वार्षिक उत्सव के मौके पर उच्च अंक प्राप्त विद्यार्थियों को साइकिल आदि देकर सम्मानित भी किया गया। इस अवसर पर स्व वर्मा के पुत्रगण राधे श्याम चौधरी,जेल अधीक्षक (अ प्रा),डॉ ओ पी चौधरी, एसोसिएट प्रोफेसर एवं विभागाध्यक्ष मनोविज्ञान,तथा महामहिम राज्यपाल द्वारा नामित कार्य परिषद सदस्य वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर, शत्रुघ्न चौधरी, अपर मुख्य स्थाई अधिवक्ता, मा उच्च न्यायालय, लखनऊ खंडपीठ सहित विद्यालय के अध्यक्ष कपिल देव वर्मा, मंत्री श्री पारसनाथ वर्मा, राजाराम वर्मा, अध्यक्ष, माध्यमिक शिक्षक संघ, अम्बेडकरनगर,पूर्व प्रधानाचार्य राम दास,डॉ मोती लाल वर्मा, प्राचार्य, बी बी डी पी जी कॉलेज, परूइया आश्रम, अम्बेडकरनगर,अशोक स्मारक पी जी कॉलेज, अ न की प्रबंधक  रेनू वर्मा, परशुराम महाविद्यालय के प्रबंधक शैलेश चौधरी, चौधरी हनुमान प्रसाद कृषक महाविद्यालय के प्रबंधक राजेन्द्र वर्मा, केदार नाथ वर्मा,प्रबंधक, श्यामलाल एकेडमी, मालीपुर, अनिल वर्मा, प्रधानाचार्य, विश्वनाथ सनातन धर्म इंटर कॉलेज वाराणसी, शंभू चौधरी, प्रबंधक, छत्रपति शिवाजी हाई स्कूल मैनुद्दीन पुर,  अजय वर्मा , प्रधानाचार्य,शास्त्री औद्योगिक इंटर कॉलेज, कासिमपुर,डॉ दान बहादुर वर्मा, प्रधानाचार्य,बड़ागांव इंटर कॉलेज,फतेहपुर जलापुर,डॉ कृपा शंकर चौधरी सहित अनेक महाविद्यालयों के प्रबंधक गण,  शोभाराम पटेल, बच्चा राम वर्मा, लल्लन वर्मा,राज करन वर्मा,राम सूरत चौधरी, चन्द्र प्रकाश चौधरी सहित विद्यालय व विभिन्न महाविद्यालयों के शिक्षक गण व क्षेत्र के अनेक गण मान्य जनों सहित काफी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित रहे। अंत में राष्ट्र गान से कार्यक्रम का समापन हुआ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित