आकण्ठ भ्रष्टाचार में डूबे प्रशासनिक तन्त्र कब तक लगाता रहेगा सरकार के मंशा को चूना यक्ष प्रश्न ?

1 min read

आकण्ठ भ्रष्टाचार में डूबे प्रशासनिक तन्त्र कब तक लगाता रहेगा सरकार के मंशा को चूना ….यक्ष प्रश्न …..

कई लोगों पर गिरी गाज फिर भी रुकने का नाम नहीं ….

अब सुविधा शुल्क लेने का अमीन का ऑडियो आया सामने ….

विजय चौधरी /सह संपादक


अम्बेडकरनगर। सूबे की योगी सरकार भ्रष्टाचार पर नकेल कसने की कितनी भी कार्यवाही करे लेकिन कर्मचारियों की कृत लगातार शासन की मंशा को कलंकित करने से बाज नहीं आ रहें हैंं ।
जनपद अम्बेडकर नगर अपने आकंठ भ्रष्टाचार की शायद पराकाष्ठा की सीमा ही लांघ चुकी है । जिला पंचायत , ग्राम पंचायत के साथ ही राजस्व विभाग भी अपने नित नये कारनामों से सरकार की मंशा को धूल धूसरित करने में सबसे आगे हो चुकी है । तहसील स्तर से शुरू हुआ भ्रष्टाचार का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है । भ्रष्टाचार के ही मामले में तहसीलदार रहे गिरवर सिंह बर्खास्त हो चुकें हैंं । लेखपाल हरिश्चंद पाठक व हेमन्त पाण्डेय पर भी निलम्बन की गाज गिर चुकी है । लेकिन इसके बाद भी यह खेल बदस्तूर जारी है ।अब तहसील अकबरपुर में तैनात अमीन हरिनरायन यादव की भी ऑडियो जारी हो गयी जिसमें उन्होंने एक याची से तलाब का पट्टा दिलाने के नाम पर 16000 रुपये लिए जाने का मामला प्रकाश में आया है । अमीन ने पीड़ित से रुपया भी ले लिया और न ही उसे पट्टा मिला और न ही उसका रुपया वापस करना चाह रहा है । जिसके लिए पीड़ित को बार बार दौड़ाया जा रहा है । अब देखना यह है कि इस अमीन पर कार्यवाही की गाज कब गिरेगी ?   आखिर निरंकुश हो चले इस प्रशासनिक तन्त्र द्वारा सरकार की मंशा को कबतक चुनौती दी जाती रहेगी ? यह यक्ष प्रश्न बना हुआ है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित