आधुनिक युग के प्रेरणा पुंज बने श्रवण कुमार के समाधी स्थल को संवारेंगी सपा सरकार ….

1 min read

आधुनिक युग के प्रेरणा पुंज बने श्रवण कुमार के समाधी स्थल को संवारेंगी सपा सरकार ….

पौराणिक तीर्थस्थल की बदहाली को लेकर सपा प्रमुख से मिले डॉ आशीष पाण्डेय दीपू ..

विजय चौधरी /सह संपादक

अम्बेडकरनगर। विधानसभा कटेहरी अन्तर्गत अपने अस्तित्व को लेकर संघर्ष कर रही पौराणिक एवं सिद्धपीठ स्थल श्रवण क्षेत्र की दुर्दशा को लेकर सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से पूर्व विधायक जयशंकर पाण्डेय व डॉ .आशीष पाण्डेय दीपू ने मिलकर तीर्थस्थल की बदहाली व महत्ता से पूर्णरूपेण अवगत कराया ।


पौराणिक स्थल की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए डॉ .दीपू ने बताया कि आज के दौर में हमारा समाज जहाँ बोगस संस्कार के चकाचौंध में पाश्चात्य संस्कार में सराबोर होकर अपने परिवार के बहुत ही मजबूत व जिम्मेदार कड़ी (बुजुर्गों ) को तिरस्कृत करने पर तुला हुआ है । अपनी पूरी जिन्दगी का सर्वस्व अपने परिवार पर न्यौछावर कर चुका बुजुर्ग आज अपने युवा पीढ़ी द्वारा सम्मान व दो वक्त की रोटी के लिए तिरस्कृत किया जा रहा है ।दुनियां उन्हें समायोजित करने के लिए ओल्ड हास्टल बना रही है । ऐसे समय के आज मातृ एवं पितृ भक्त बालक युवा पीढ़ी के लिए एक प्रेरणास्रोत बनकर उभर सकतें हैंं । ऐसे में इस पौराणिक स्थल की महत्ता और भी अधिक बढ़ जाती है ।परन्तु राम के नाम पर सिर्फ राजनीति करने वाली प्रदेश व केन्द्र में बैठी भाजपा सरकार द्वारा द्वेषभाव से ऐसे महत्वपूर्ण तीर्थस्थल को उपेक्षित करना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है । इसी प्रसंग को लेकर सपा पूर्व विधायक जयशंकर पाण्डेय व समाजवादी युवजन सभा के नि .राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ .आशीष पाण्डेय दीपू ने सपा मुखिया पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलकर अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रहे उपेक्षित श्रवण क्षेत्र की चर्चा कर सौंदर्यीकरण की मांग उठायी । सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उक्त द्वय नेता को आश्वासन दिया कि सपा सरकार बनने पर विधानसभा कटेहरी स्थित श्रवण क्षेत्र का सौंदर्यीकरण देश के सर्वोतम तीर्थस्थलों की तर्ज पर विकसित किया जायेगा साथ उक्त स्थल पर श्रवण कुमार की भव्य प्रतिमा स्थापित कर क्षेत्र का सर्वांगीण विकास किया जायेगा । श्रवण कुमार के त्याग व बलिदान व्यर्थ नहीं होने देगें । समाजवादी श्रवण यात्रा की पुनः शुरुआत करवायी जाएगी।
डॉ आशीष पाण्डेय दीपू ने श्रवण कुमार जी का स्मृति चिन्ह भेंट किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित