शिक्षा वह शेरनी का दूध है जिसने इसे पिया है वही समझा है : घनश्याम चन्द्र खरवार

1 min read

शिक्षा वह शेरनी का दूध है जिसने इसे पिया है वही समझा है ….घनश्याम चन्द्र खरवार

दयाराम वर्मा शिक्षण संस्थान में सादगी के साथ मनाया गया वार्षिकोत्सव …

विश्वनाथ वर्मा …..

कटेहरी (अंबेडकर नगर)। दयाराम वर्मा शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान का वार्षिक उत्सव हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी मनाया गया । कार्यक्रम के मुख्य अतिथ पूर्व सांसद घनश्याम चंद्र खरवार रहे । मुख्य अतिथ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षा वह शेरनी का दूध है जिसने भी इसे पिया वही अपने बूते पर खड़ा होकर अपने अपने परिजनों को बुलंदी पर पताका गाड़ा है । शिक्षा जीवन की तैयारी है। शिक्षा ही समाज में समानता व सम्मान लाती है । परिवार वालों तथा अभिभावकों की जिम्मेदारी बनती है। अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दें । बच्चों को समझा-बुझाकर अच्छे रास्ते पर चलने की शिक्षा दें , ताकि बच्चा आगे चलकर शिक्षा ग्रहण कर ससम्मान पारिवारिक भरण पोषण के साथ साथ समाज के हित में भी अच्छा कार्य करने का काम करें ।
कार्यक्रम में श्रावस्ती के सांसद महा विद्यालय के संस्थान के प्रबंधक राम शिरोमणि वर्मा ने मुख्य अतिथि को बुके देकर सम्मानित किया । कार्यक्रम में मुख्य अतिथ ने जरूरतमंदों को कंबल वितरित किया । इस कार्यक्रम में मौजूद राम बहोर राव, पवन मौर्या , बलराम निषाद, सदाराम , रविंद्र निषाद, राधेश्याम राजभर , कुंवर गौतम , पवन मौर्या, सभाजीत , विजय कुमार सहित अन्य लोग मौजूद भी रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित