अध्यात्म आत्मबल और आत्मिक ऊर्जा का स्रोत है : संतोष कुमार अग्रवाल

1 min read

वाराणसी (अवधी खबर)। श्री काशी अग्रवाल समाज वाराणासी के नव निर्वाचित सभापति संतोष कुमार अग्रवाल ने उक्त उदगार आज श्री अग्रसेन कन्या पी जी कॉलेज वाराणासी के श्री अरविंद अध्ययन केंद्र के द्वारा आयोजित विचार गोष्ठी”अध्यात्म अपनी अपनी नजर में” अपने विचार रखते हुए व्यक्त किया। महाविद्यालय की नवनिर्वाचित प्रबंधक डॉ मधु अग्रवाल ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि उनकी नजर में अध्यात्म हमारी आंतरिक शक्ति का स्रोत है,जिसके द्वारा हम अपने जीवन के महत्वपूर्ण लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं। सह प्रबंधक डॉ रूबी शाह ने अपने विचारों को व्यक्त करते हुए कहा कि अध्यात्म आत्मा की शुद्धता का नाम है। आमोद अग्रवाल ने आत्म विकास, सलिल अग्रवाल ने परमात्मा से मिलन तो अरविन्द सिकरिया ने आत्म शुद्धता बताया। महाविद्यालय की प्राचार्य और श्री अरविंद अध्ययन केन्द्र की समन्वयक प्रो मिथिलेश सिंह ने विषय प्रवर्तन करते हुए अध्यात्म को कई दृष्टिकोण से सभी के समक्ष रखा।महाविद्यालय की छात्रा कल्याण अधिष्ठाता डॉ सुमन मिश्रा ने अध्यात्म को आत्म सम्मान से जोड़ा तो अधिष्ठाता प्रशासन डॉ ओपी चौधरी ने स्वयं की दृष्टि में आत्मानुशासन व कर्तव्य निष्ठा को ही अध्यात्म का मूल भाव बताया। समाजशास्त्र विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ आभा सक्सेना ने अध्यात्म को आत्मा को परमात्मा तक पहुंचने का माध्यम माना ।

महाविद्यालय की शिक्षक संघ की अध्यक्ष डॉक्टर कुमुद सिंह ने कहा कि उनकी नजर में अध्यात्म समानुभूति है। इसके अतिरिक्त महाविद्यालय के विभिन्न विषयों के प्रवक्ताओं डॉ पूनम श्रीवास्तव, डॉ प्रियंका,डॉ धनंजय सहाय,डॉ सुषमा पांडेय,डॉ श्वेता सिंह, डॉ विभा सिंह,डॉ दिव्या राय, डॉ शालिनी आदि ने इस विचार गोष्ठी में अपने अपने विचारों को व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन श्री अरविंद अध्ययन केंद्र की सह समन्वयक डॉ प्रिया भारतीय एवं ध्यान व धन्यवाद ज्ञापन केन्द्र की दूसरी सह समन्वयक लेफ्टिनेंट डॉ उषा बालचंदानी ने किया। इस अवसर पर काफी संख्या में लोगों की उपस्थित रही। कार्यक्रम से पूर्व समाज तथा महाविद्यालय के नव निर्वाचित पदाधिकारियों ने महाराज श्री अग्रसेन जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया तथा परिसर का भ्रमण कर निरीक्षण किया।
शोभा प्रजापति
सह मीडिया प्रभारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित