डॉ ओ पी चौधरी संकायाध्यक्ष नियुक्त

1 min read

डॉ ओ पी चौधरी संकायाध्यक्ष नियुक्त

अवधी खबर (संपादकीय) वाराणासी। श्री अग्रसेन कन्या (स्वायत्तशासी) पी जी कॉलेज वाराणासी के मनोविज्ञान विभाग के सह आचार्य एवं विभागाध्यक्ष डॉ ओ पी चौधरी को महाविद्यालय के कला, मानविकी एवं सामाजिक विज्ञान संकाय का संकायाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। धयातव्य है कि स्वायत्तशासी महाविद्यालयों में हेड और डीन के पद एवं अन्य समितियां विश्वविद्यालय की भांति ही होती हैं। डॉ चौधरी अपने अध्यवसाय, लगन एवं परिश्रम से महाविद्यालय के अधिष्ठाता प्रशासन; मीडिया प्रभारी;समन्वयक, प्रवेश समिति;सदस्य सचिव,अकैडमिक कॉउन्सिल;समन्वयक,यू जी सी सेल,समन्वयक,राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020,क्रियान्वयन समिति,संयोजक,मनोविज्ञान अध्ययन बोर्ड,सचिव,शिक्षक कल्याण कोष,शिक्षक सदस्य, प्रबंध समिति सहित परीक्षा समिति सहित कई अन्य समितियों के वर्तमान में सदस्य हैं।साथ ही महाविद्यालय की वार्षिक पत्रिका दीपशिखा के संपादक का दायित्व व अग्रसेन टाइम्स के परामर्श संपादक भी हैं।
धयातव्य है कि डॉ चौधरी एम जी काशी विद्यापीठ वाराणासी के मनोविज्ञान विभाग के अध्ययन बोर्ड और आर डी सी के सदस्य हैं। साथ ही प्रदेश के महामहिम श्री राज्यपाल ने आपको वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्विद्यालय जौनपुर में कार्य परिषद का सदस्य नामित किया है। डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्विद्यालय अयोध्या के शासी निकाय (बोर्ड ऑफ गवर्नर्स ऑफ कांस्टीट्यूइंट कॉलेज) के सदस्य भी हैं।इससे पूर्व डॉ ओम प्रकाश चौधरी को प्रदेश के पूर्व महामहिम राज्यपाल श्री राम नाईक जी ने अवध विश्वविद्यालय अयोध्या के कार्य परिषद का सदस्य नामित किया था। आप शासन एवं उच्च शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश की अनेक बैठकों में न केवल प्रतिभाग करते हैं बल्कि उच्च शिक्षा,शिक्षार्थी एवं शिक्षकों की समस्याओं के समाधान का रास्ता भी तलाशते हैं। श्री अग्रसेन कन्या पी जी कॉलेज के प्रबंधक अनिल कुमार जैन व प्राचार्य प्रो मिथिलेश सिंह का कहना है कि डॉ चौधरी अपने अध्यापन के साथ ही बहुत ही अनुशासित और समयबद्ध तरीके से सभी दायित्वों के निर्वहन करने के साथ ही पर्यावरण से भी गहरा लगाव रखते हैं। महाविद्यालय परिसर में अधिकतम पेड़ इन्हीं के द्वारा लगाए गए हैं। आप अवकाश के दिनों में भी कॉलेज आवश्यकतानुसार आते हैं और कार्यों को अंजाम देते हैं।महाविद्यालय के रजत जयंती पर आपको “विशिष्ट सेवा सम्मान” तथा 2014 में “सर्वोत्तम शिक्षक” के सम्मान से नवाजा जा चुका है। आप महाविद्यालय की लगभग प्रत्येक समितियों में कभी न कभी कार्य कर चुके हैं। हम इनके स्वस्थ और दीर्घ जीवन की बाबा विश्वनाथ से प्रार्थना करते हैं।
इतने कार्यों के साथ ही आपकी सामाजिक कार्यों में भी गहरी पैठ है। सहयोगी-सामाजिक,शैक्षणिक एवं सांस्कृतिक संस्था के सचिव के रूप में अनेक गतिविधियों में लगे रहते हैं। जीवन का मूलमंत्र कर्म ही पूजा है,में विश्वास रखने वाले बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी डॉ ओ पी चौधरी ने अब तक 5 पुस्तकें,16 पुस्तकों में चैप्टर,दो दर्जन से भी अधिक शोधपत्र विभिन्न राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय जर्नल्स में प्रकाशित हो चुके हैं। इसके साथ ही रेडियो वार्ता और समाचारपत्रों सहित विभिन्न पत्रिकाओं में आपके लगभग 6 दर्जन आलेख प्रकाशित हो चुके हैं। कई सेमिनार,वेबिनार एवं संगोष्ठियों में वक्ता के रूप में प्रतिभाग कर चुके हैं। पर्यावरण संरक्षण में आपकी गहरी रुचि है। नेपाल गांधी पीस फाउंडेशन द्वारा गाँधी पर्यावरण योद्धा सम्मान प्राप्त कर चुके डॉ साहब अनेक संस्थाओं से सम्मानित किए जा चुके हैं।

अम्बेडकरनगर जनपद के जलालपुर तहसील के मैनुद्दीनपुर गॉव के मूल निवासी ओ पी चौधरी कार्यरत तो काशी में हैं,लेकिन यहाँ से भी आपका बहुत ही लगाव है। इनके डीन बनाये जाने पर पूर्व डी आई जी पुलिस डी के चौधरी,पूर्व डी आई जी जेल बी आर वर्मा, वरिष्ठ जेल अधीक्षक (अ. प्रा.)डॉ सेवा राम चौधरी,संयुक्त शिक्षा निदेशक,माध्यमिक (अ. प्रा.) श्रीमती ए पी वर्मा, संयुक्त निदेशक अभियोजन सुरेंद्र चौधरी,सरदार पटेल शिक्षण संस्थान समूह अम्बेडकरनगर के अध्यक्ष कमला प्रसाद वर्मा,राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त प्रधानाचार्य डॉ राम उजागिर वर्मा, हरीश चौधरी, विपिन उपाध्याय,रणधीर सिंह,पूर्व प्रधान,डॉ गौतम राजभर,विभागाध्यक्ष,बी एड,शैलेष चौधरी,प्रबंधक, रवीश वर्मा,विभागाध्यक्ष,बी एड, डॉ रवींद्र वर्मा तथा डॉ अरविंद वर्मा,सह आचार्य, रमाबाई राजकीय महाविद्यालय, अम्बेडकरनगर, समाजसेवी एवं शिक्षक शोभाराम पटेल,हाजी अब्दुल समद,हिदायतुल्लाह ,डॉ कृपा शंकर चौधरी, कमलेश चौधरी कैशियर,आशाराम चौधरी एडवोकेट, राम उजागिर यादव,राम लौटन विश्वकर्मा ,नरसिंह वर्मा सहित अनेक लोगों ने बधाई , शुभकामनाएं व प्रसन्नता व्यक्त किया है।

विनोद वर्मा
संपादक,अवधी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित