एसडीएम ने किया छापेमारी डायग्नोस्टिक सेंटर सीज, मुकदमा दर्ज.

1 min read

अवधी खबर

अम्बेडकर नगर।टाण्डा तहसील क्षेत्र के बसखारी में बिना लाइसेंस के डाइग्नोस्टिक सेंटर संचालित हो रहा था जिसकी सूचना पर पहुंचे उपजिलाधिकारी टाण्डा दीपक वर्मा ने शनिवार को औचक निरीक्षण कर सेंटर को सीज़ कर दिया। बसखारी- जलालपुर मार्ग पर संचालित बसखारी डाइग्नोस्टिक सेंटर पर उपजिलाधिकारी दीपक वर्मा ने दलबल के साथ छापेमारी कर वैध प्रपत्र की मांग करने पर हड़कंप मच गया। उपजिलाधिकारी दीपक ने बताया कि मौके पर अल्ट्रासाउंड मशीन, प्रिंटर, यूपीएस, मॉनिटर, लेसर प्रिंटर, रोगी पंजिका, रसीद बुक जिसमें 14 रोगियों की रसीद काटी गई थी उक्त सामानों को सीज़ कर दिया गया। मौके पर अल्ट्रासाउंड सेंटर को डॉक्टर यूपिका मिश्रा पत्नी डॉ पंकज मिश्रा के द्वारा संचालित किया जा रहा था। कार्यवाही के दौरान एमओआईसी बसखारी तथा एसओ बसखारी मौजूद रहे। बहरहाल उपजिलाधिकारी टाण्डा द्वारा अवैध रूप से संचालित बसखारी डाइग्नोस्टिक सेंटर पर छापेमारी कर सेंटर को सीज़ कर दिया है। जिसकी क्षेत्र में खूब चर्चा हो रही।चर्चा के बीच टांडा एसडीएम एक ही डायग्नोस्टिक पर कार्यवाही करके मामले का इतिश्री कर लिया ऐसे पता नहीं कितने डायग्नोस्टिक सेंटर पैथोलॉजी बसखारी में बिना रजिस्ट्रेशन के संचालित हो रहे हैं। आखिर क्या कारण हुआ कि जो बसखारी डायग्नोस्टिक सेंटर पर छापे पड़े।क्या आगे और भी कार्रवाई एसडीएम टांडा के द्वारा डायग्नोस्टिक सेंटरो और पैथोलॉजी पर किये जायेंगे। जिनके द्वारा प्रतिबंधित जांचे और मरीजो को गलत रिपोर्ट दी जा रही है। उन भी पर छापेमारी की जाएगी या फिर खुलेआम डायग्नोस्टिक पैथोलॉजी सेंटरों को छोड़ दिया जाएगा एक अहम सवाल अपने आप मे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *