Comedian Asrani Once Rejected By Bollywood Know The Reason

1 min read

असरानी को लुक के कारण कर दिया जाता था रिजेक्ट, शोले के जेलर के रोल ने बदली किस्मत

एक समय में बॉलीवुड ने असरानी को कर दिया था रिजेक्ट

नई दिल्ली :

Govardhan Asrani: असरानी के नाम से फिल्मों में मशहूर एक्टर असरानी का असली नाम गोवेर्धन असरानी है. गोवेर्धन असरानी का जन्म 1 जनवरी 1941 में जयपुर राजस्थान में हुआ था. शुरूआती पढ़ाई सेंट जेवियर स्कूल जयपुर से करने के बाद वह ग्रेजुएशन के लिए राजस्थान कॉलेज चले गए. पढ़ाई खत्म होने के बाद उन्होंने बतौर रेडियो आर्टिस्ट काम किया. असरानी की वाइफ मंजू बंसल ईरानी हैं. असरानी अपनी पत्नी के साथ कई फिल्मों में नजर आ चुके हैं. असरानी ने अपने करियर में तकरीबन 300 से अधिक हिंदी व गुजरती फिल्में की. वह पांच दशक तक फिल्मों की हिस्सा रहे. 

1u5cs9o

यह भी पढ़ें

एक्टर होने के साथ ही वह एक राजनेता भी हैं. उन्होंने साल 2004 में कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण ली थी. लोकसभा चुनावों के दौरान उन्होंने पार्टी में काफी बढ़-चढ़कर हिस्सा भी लिया था. हालांकि असरानी के लिए बॉलीवुड में पैर जमाना इतना आसान नहीं था. असरानी ने काफी स्ट्रगल के बाद जया भादुड़ी स्टारर फिल्म ‘गुड्डी’ से डेब्यू किया. फिल्म हिट रही और असरानी को भी फिल्म में काफी पसंद किया गया, लेकिन इसके बाद भी उनका स्ट्रगल खत्म नहीं हुआ. 

कोमल नाहटा के शो में असरानी ने बताया था कि लोग उनको कमर्शियल एक्टर नहीं समझते थे और उन लोगों में गुलजार भी शामिल थे. उन्होंने बताया था, ‘गुलजार साहब ने कहा था ना ना..मुझे वो कमर्शियल एक्टर नहीं समझते थे..बोले कुछ अजीब सा चेहरा है.’ उन्होंने आगे बताया कि एक बार वह डायरेक्टर एलवी प्रसाद से मिले. उन्होंने कहा था कि न तो असरानी विलेन लगते हैं न हीरो, उन्हें कैसा रोल दिया जाए. 

हालांकि बाद में उन्होंने फिल्म दी मुझे…उन्होंने कहा कि असरानी तुम्हें कैसा रोल दें? हीरो हमारे पास बहुत हैं, विलेन तू लगता नहीं, कॉमेडियन का सवाल ही पैदा नहीं होता और रोमांटिक सीन तुम कर नहीं सकते. तुम बताओ बेटा क्या रोल दे तुम्हें? मैंने कहा नहीं सर, मैं डब्बा वापस लेता हूं, मुझे माफ़ करो. और मैं चला गया.’

बॉलीवुड में रिजेक्शन के बाद असरानी ने साउथ का रूख किया. यहां उनके टैलेंट को सराहा गया और उन्होंने साउथ के बड़े एक्टर्स- डायरेक्टर्स के साथ काम किया. इसके बाद उन्हें हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में भी स्वीकार किया जाने लगा. उनके काम को देखते हुए बीआर चोपड़ा ने उन्हें ‘निकाह’ में लिया. हालांकि उन्हें लोगों ने कहा भी यह इस रोल के लिए ठीक नहीं, लेकिन उन्होंने कहा करने दो और फिल्म हिट रही. 

असरानी ने बॉलीवुड में करीब 5 दशकों तक काम किया. उन्होंने कई फिल्मों का निर्देशन भी किया जिनमें हम नहीं सुधरेंगे, दिल ही तो है और उड़ान जैसी फिल्में शामिल हैं. असरानी को अमिताभ बच्चन और धर्मेंद्र की सुपरहिट फिल्म ‘शोले’ में नजर आए थे और इस फिल्म में जेलर का रोल यादगार बन गया. 

VIDEO: अभिनेत्री उर्वशी रौतेला ब्लैक आउटफिट में हुई स्पॉट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *