Rule Of Wearing Rudraksha Know How To Wear Rudraksha In Sawan – Rudraksha: रुद्राक्ष पहनने का ये है खास नियम, जानें सावन में किस तरह धारण करें Rudraksha

1 min read

रुद्राक्ष पहनने के नियम | Rules for wearing Rudraksha

सावन मास में रुद्राक्ष पहनना शुभ माना जाता है. किसी सोमवार को लाल कपड़े में रुद्राक्ष को रखकर पूजा स्थान पर रख दें.

रुद्राक्ष धारण करने से पहले इसे गंगाजल या पंचामृत से शुद्ध किया जाता है. 

रुद्राक्ष को गले में धारण करने से पहले इसे शिवलिंग पर अर्पित किया जाता है. इसके बाद शिव पंचाक्षर मंत्र ओम् नमः शिवाय का जाप किया जाता है. 

रुद्राक्ष को गंगाजल से अभिषिक्त (शुद्ध) करने के लिए पहले हाथ में गंगाजल लेकर संकल्प लें और गंगाजल के नीचे छोड़ दें. इसके बाद ही रुद्राक्ष धारण करें.

Raksha Bandhan 2022: रक्षा बंधन पर इस बार 4 शुभ योग का खास संयोग, ये है राखी बांधने के लिए सबसे अच्छा मुहूर्त

रुद्राक्ष को लाला धागे में पिलोकर धारण करना शुभ माना गया है. इसलिए रुद्राक्ष धारण करते समय इस बात का ध्यान रखा जाता है. 

अगर रुद्राक्ष गले में धारण करना चाहते हैं तो इसके मनकों की संख्या 108 या 54 शुभ माना गया है. वहीं कलाई में रुद्राक्ष धारण करने के लिए मनकों की संख्या 12 होनी चाहिए. 

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, रुद्राक्ष धारण करने वाले व्यक्ति को सात्विक जीवनशैली का पालन करना चाहिए. 

रुद्राक्ष पहनने से क्या होते हैं फायदे | Benefits of wearing Rudraksha

रुद्राक्ष को भगवान शिव का आभूषण माना गया है. माना जाता है कि रुद्राक्ष धारण करने से मानसिक शांति मिलती है. साथ ही कई रोग दूर होते हैं. वहीं हार्ट से लेकर हाई बीपी के मरीजों को रुद्राक्ष धारण करने की सलाह दी जाती है. धार्मिक मान्यता है कि रुद्राक्ष पहनने वाला दीर्घायु होता है. इसे धारण करने से ओज और तेज में भी वृद्धि होती है. 

Maa Lakshmi: मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए रोजाना कर सकते हैं ये छोटा सा काम, घर-परिवार रहेगा खुशहाल

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

मॉनसून स्किन केयर टिप्स बता रही हैं ब्यूटी एक्सपर्ट भारती तनेजा​

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *