Presidential Election: What Is The Vote Value In Bihar? Whose Edge Is Heavy? NDV Vs Opposition Full Calculation – राष्ट्रपति चुनाव : बिहार में वोट वैल्यू क्या?  किसका पलड़ा भारी? समझें पूरा गणित 

1 min read

पटना:

आज देश के 15वें राष्ट्रपति के चुनाव के लिए वोट डाले जा रहे हैं. वोटों की गिनती 21 जुलाई को होगी. नए राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण 25 जुलाई को होगा. राष्ट्रपति पद के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की ओर से द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) जबकि विपक्षी गठबंधन की ओर से पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) उम्मीदवार हैं. 

यह भी पढ़ें

इस चुनाव में लोकसभा और राज्यसभा के सांसद और राज्यों की विधान सभाओं के सदस्य यानी विधायक वोट डालते हैं. राज्यों की आबादी और राज्य विधानसभा में सीटों की संख्या के हिसाब से हरेक मतदाता का एक वोट वैल्यू होता है. उसी के आधार पर राष्ट्रपति चुनाव में मिले कुल मत पर हार जीत का फैसला होता है.

बिहार विधानसभा में कुल 243 सदस्य होते हैं लेकिन फिलहाल 242 सदस्य हैं. इसके अलावा कुल 56 सांसद (40 लोकसभा और 16 राज्यसभा) हैं. इनका कुल वोट वैल्यू- 81,066 (41866 विधायकों के और 39200 सांसदों के) है.  इनमें NDA का शेयर- 55,571 और विपक्षी गठबंधन का मत मूल्य 25,322 है. राज्य में एक विधायक के वोट का वैल्यू- 173 और एक सांसद के वोट का वैल्यू -700 है.

“दीदी अगर राष्ट्रपति बनीं तो आदिवासियों के लिए होगी गर्व की बात”, NDTV से बोले द्रौपदी मुर्मू के परिजन

राज्य में सत्तारूढ़ NDA के पास इस वक्त कुल 127 विधायक और कुल 48 सांसद (39 लोकसभा और 9 राज्यसभा) हैं, इसलिए उसके पास कुल मत मूल्य (21971- विधायकों और 33600 सांसदों) 55,571 हैं. वहीं राजद की अगुवाई वाले विपक्षी गठबंधन के पास फिलवक्त 114 विधायक और आठ सांसद (एक लोकसभा और सात राज्यसभा) हैं. इनका कुल वोट वैल्यू क्रमश: 19,722 और 5,600 यानी कुल 25,322 है.

क्यों राष्ट्रपति चुनाव में ईवीएम की बदले बैलेट बॉक्स के जरिए होती है वोटिंग? यहां समझें

राज्य में एक विधायक AIMIM के हैं. उन्होंने भी विपक्षी उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के पक्ष में मत देने का ऐलान किया है. इस तरह यशवंत सिन्हा के पक्ष में कुल 25,495 मत मूल्य जाता दिख रहा है, जो सिर्फ 31.44 फीसदी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *