Sonia Gandhis Personal Secretary PP Madhavan On Rape Allegation HIndi News – झूठे आरोपों का उद्देश्य छवि खराब करना: दुष्‍कर्म मामले पर सोनिया गांधी के निजी सचिव 

1 min read

द्वारका के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) एम हर्षवर्धन ने कहा, ‘‘उत्तम नगर थाने में 25 जून को एक शिकायत मिली थी. भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 376 (दुष्कर्म) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत एक मामला दर्ज किया गया। हम मामले की जांच कर रहे हैं.”

उन्होंने कहा कि पुलिस 71 वर्षीय व्यक्ति के खिलाफ लगाए गए आरोपों की जांच कर रही है, जो एक वरिष्ठ नेता के निजी सचिव के तौर पर काम करते हैं. हालांकि, उपायुक्त ने नेता का नाम नहीं लिया, लेकिन दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने कहा कि माधवन के खिलाफ आरोप लगाए गए हैं. 

प्राथमिकी के अनुसार, महिला ने कहा था कि उसकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है और वह कांग्रेस कार्यालय गई जहां उसे माधवन का फोन नंबर मिला था. 

महिला ने अपनी शिकायत में कहा, ‘‘मैंने उनसे कहा कि मुझे नौकरी की ज़रूरत है और उन्होंने मेरी सहायता का वादा किया…21 जनवरी, 2022 को उन्होंने मुझे साक्षात्कार के लिए बुलाया था. मेरे सभी दस्तावेज़ देखने के बाद उन्होंने मुझसे कई सवाल पूछे और फिर…कहा कि वह मुझसे शादी करना चाहते हैं… मैंने हां कह दिया और एक दिन उन्होंने मुझे फिर मिलने के लिए बुलाया.”

महिला ने कहा, ”वह मुझे एक कार में लेने आए और चालक से कार वहीं छोड़कर जाने के लिए कहा. उन्होंने मेरा यौन शोषण किया और मेरे साथ दुष्कर्म की भी कोशिश की. जब मैंने इस पर आपत्ति जताई तो वह नाराज़ हो गए और मुझे सड़क पर अकेला छोड़ दिया.”

अधिकारियों ने कहा कि महिला दिल्ली में रहती है और उसके पति की 2020 में मृत्यु हो गई थी. उन्होंने कहा कि महिला का पति कांग्रेस कार्यालय में काम करता था. साथ ही, उन्होंने कहा कि महिला का पति होर्डिंग लगाता था. 

माधवन ने कहा, यह उनके संज्ञान में लाया गया है कि मीडिया में कई ऐसी खबरें हैं कि उनके खिलाफ दिल्ली के उत्तम नगर पुलिस थाने में एक शिकायत दर्ज की गई है, जिसमें उन पर एक महिला के खिलाफ यौन अपराध करने का आरोप लगाया गया है और आरोपी स्वयं के कांग्रेस कार्यकर्ता होने का दावा करता है जिसे नौकरी देने का वादा किया गया था. 

उन्होंने कहा कि वह 25 जून को उत्तम नगर थाने के प्रमुख (एसएचओ) के सामने पेश हुए थे और अपना स्पष्टीकरण दे दिया था, जिसके बाद उन्हें जाने के लिए कहा गया था. 

उन्होंने कहा, ”मेरे पास यह प्रदर्शित और स्थापित करने के लिए सबूत हैं कि शिकायत राजनीतिक प्रतिशोध के चलते की गई है.”

ये भी पढ़ें:

* कांग्रेस नेतृत्व ने जकिया जाफरी की कानूनी लड़ाई का समर्थन नहीं किया : पिनराई विजयन

* गुजरात दंगे को लेकर मोदी के खिलाफ सीतलवाड़ के अभियान में सोनिया गांधी भी शामिल : BJP

* NDA की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने सोनिया गांधी, शरद पवार, ममता बनर्जी से मांगा सहयोग : PTI

“लोकतंत्र के लिए बुरा संकेत” : पुलिस स्टेशन में NDTV से बोले सचिन पायलट | पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *