Video: PM Modi Cleared The Garbage After The Tunnels Inauguration Message Of Clean India – Video: PM मोदी ने टनल के उद्घाटन के बाद कचरा साफ कर दिया स्वच्छ भारत का संदेश

1 min read

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने मध्य दिल्ली में आईटीपीओ सुरंग के निरीक्षण किया. इस एक बड़े रंगीन भित्ति चित्र के सामने सड़क पर पड़े कूड़े को पीएम मोदी ने वहां से हटाया.प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने एक बार फिर देश की जनता को बता दिया कि उनकी सरकार के ‘स्वच्छ भारत’ या स्वच्छ भारत मिशन कार्यक्रम को व्यक्तिगत स्तर पर कैसे लागू किया जाना चाहिए. मध्य दिल्ली में आईटीपीओ सुरंग के निरीक्षण के दौरान पीएम मोदी ने पारंपरिक कलाओं के भित्त चित्र के सामने सड़क पर पड़े कूड़े को उठाया और डस्टबिन में फेंका.

यह भी पढ़ें

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने इसका वीडियो ट्वीट कर कहा, “आईटीपीओ सुरंग के उद्घाटन के दौरान भी, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कचरा उठाने और स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए इसे एक बिंदु बनाया, जिसमें प्रधान मंत्री का एक वीडियो भी है. दरअसल, पीएम ने रविवार को आईटीपीओ सुरंग के तहत प्रगति मैदान में एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना की मुख्य सुरंग और पांच अंडरपास का उद्घाटन किया. पीएम इसके बाद टनल में खुद मुआयना करने पहुंचे, जहां सड़क किनारे उनकी नजर गुटखेनुमा छोटे से टुकड़े पर जा पड़ी. उन्होंने उसे देखते ही फौरन उठाया और आगे लेकर चल दिए. बाद में वहां उन्हें एक खाली बोतल भी मिली, जिसे उन्होंने बाद में कूड़ेदान में जाकर फेंका.

ये भी पढ़ें: ‘अग्निवीरों को साल में मिलेंगी 30 छुट्टियां, बीच में नहीं छोड़ सकते ट्रेनिंग’, IAF ने जारी कीं ‘अग्निपथ’ स्कीम की सेवा-शर्तें; पढ़ें पूरी डिटेल्स

समाचार एजेंसी एएनआई ने इस पूरे वाकये से जुड़ा एक वीडियो भी जारी किया है. 31 सेकेंड की इस क्लिप में साफ-सफाई के प्रति पीएम मोदी की सजगता और संवेदनशीलता साफ देखने को मिलती है. पीएम मोदी ने टनल का उद्घाटन करते हुए कहा कि आज दिल्ली को केंद्र सरकार की तरफ से आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का बहुत सुंदर उपहार मिला है. इतने कम समय में एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर को तैयार करना आसान नहीं था. जिन सड़कों के इर्द-गिर्द ये कॉरिडोर बना है वो दिल्ली की सबसे व्यस्ततम सड़कों में से एक है. लेकिन, यह नया भारत है. समस्याओं का समाधान भी करता है, नए संकल्प भी लेता है और उन संकल्पों को सिद्ध करने के लिए प्रयास भी करता है.

देश की राजधानी में विश्व स्तरीय कार्यक्रमों के लिए स्टेट ऑफ आर्ट सुविधाएं हों, एक्जीबिशन हॉल हों, इसके लिए भारत सरकार निरंतर काम कर रही है. दिल्ली-एनसीआर की समस्याओं के समाधान के लिए बीते 8 सालों में हमने अभूतपूर्व कदम उठाए हैं. बीते 8 सालों में दिल्ली-एनसीआर में मेट्रो सेवा का दायरा 193 किलोमीटर से करीब 400 किलोमीटर तक पहुंच चुका है. इस दौरान उन्होंने दिल्ली के लोगों से अपनी 10 फीसदी यात्राएं मेट्रो से करने की अपील भी की.

ये भी पढ़ें: Agnipath Protest : सिकंदराबाद हिंसा का मास्टरमाइंड गिरफ्तार, भीड़ को उकसाने का लगा आरोप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *