Due To The Ruckus On Agneepath, The Operation Of Many Trains Was Disrupted, Passengers Had To Face Difficulties – अग्निपथ पर बवाल के कारण कई ट्रेनों का परिचालन रहा बाधित, यात्रियों को कठिनाइयों का करना पड़ा सामना

1 min read

'अग्निपथ' पर बवाल के कारण कई ट्रेनों का परिचालन रहा बाधित, यात्रियों को कठिनाइयों का करना पड़ा सामना

धरना-प्रदर्शन के दौरान 60 से अधिक कोच तथा 10 से अधिक इंजन को आग से क्षतिग्रस्त किया गया.

पटना:

केंद्र सरकार द्वारा सेना में भर्ती के लिए लाई गई अग्निपथ योजना का लगातार तीसरे दिन भी विरोध जारी रहा. शुक्रवार को भी देश के कई शहरों में हिंसक प्रदर्शन देखने को मिला. कई जगहों पर प्रदर्शनकारियों ने रेल की बोगियों को आग भी लगा दी. इस कड़ी में पूर्व मध्य रेल के विभिन्न स्टेशनों पर धरना-प्रदर्शन के कारण ट्रेनों का परिचालन अवरूद्ध रहा, जिससे यात्रियों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा. शुक्रवार को सुबह 05.00 बजे से 16.55 बजे तक बड़ी संख्या में धरना-प्रदर्शन के दौरान 60 से अधिक कोच तथा 10 से अधिक इंजन को आग से क्षतिग्रस्त किया गया.

यह भी पढ़ें

रेलवे के मुताबिक यात्री सुरक्षा एवं संरक्षा के मद्देनजर 214 मेल/एक्सप्रेस/पैसेंजर ट्रेनों को रद्द करना पड़ा जबकि 78 ट्रेनों का आंशिक समापन/प्रारंभ किया गया. इसी तरह 12 ट्रेनों को पुनर्निर्धारित कर चलाया गया, जबकि एक ट्रेन का परिचालन परिवर्तित मार्ग से किया गया, जिसके फलस्वरूप हजारों यात्री अपनी यात्रा प्रारंभ नहीं कर सके. इन यात्रियों में छात्र, मरीज भी शामिल थे, जिन्हें धरना-प्रदर्शन के कारण अपनी यात्रा स्थगित करनी पड़ी. इसी कड़ी में मालगाड़ियो का भी परिचालन अवरूद्ध रहा. 

फंसे हुए यात्रियों के लिए खान-पान की व्यवस्था

अधिकारियों के मुताबिक पूर्व मध्य रेल द्वारा यात्रियों को किसी प्रकार की तकलीफ ना हो, इसके लिए भरपूर प्रयास किया गया. इसी प्रयास के तहत विभिन्न स्टेशनों पर फंसे हुए यात्रियों की सुविधा के लिए खान-पान मुहैया कराने, बीमार यात्रियों के लिए चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराने सहित अन्य कई कदम उठाए गए. धरना-प्रदर्शन के कारण रेल संपत्ति को काफी नुकसान पहुंचा. पूर्व मध्य रेल द्वारा रेल संपत्ति की क्षति का आंकलन किया जा रहा है . 

रेलवे के मुताबिक स्टेशनों पर फंसे हुए यात्रियों को आरपीएफ, जीआरपी द्वारा सुरक्षा प्रदान की गयी, जिसमें स्थानीय प्रशासन का भी सहयोग रहा. यात्रियों को खान-पान उपलब्ध कराया गया. महिला, बच्चों एवं वरिष्ठ नागरिकों का विशेष ध्यान रखते हुए उन्हें हर प्रकार की सहायता उपलब्ध करायी गयी. फंसे हुए यात्रियों की सुविधा के लिए स्पेशल ट्रेन के परिचालन की योजना भी बनाई जा रही है.

टिकट कैंसल कराने पर कोई चार्ज नहीं

पूर्व मध्य रेल क्षे़त्राधिकार के कई स्टेशनों पर एक दर्जन से ज्यादा हेल्पलाइन जारी किया गया, जिससे यात्रियों को काफी सुविधा हुई है. इसी तरह यात्रियों की सुविधा के लिए टिकट रिफंड के लिए अतिरिक्त टिकट काउंटर का प्रावधान भी किया गया और टिकट के कैंसिल कराने पर कोई कैसिलेशन चार्ज नहीं लिया जा रहा है. स्टेशनों पर लगातार उद्घोषणा के माध्यम से यात्रियों तक सूचित भी किया जा रहा है. सोशल मीडिया के माध्यम से भी ट्रेन परिचालन में हुए बदलाव की जानकारी नियमित अंतराल पर दी गयी.

यह भी पढ़ें:

* “”अग्निपथ योजना पर बवाल: ‘आप’ ने कहा – ये योजना सेना को सिक्योरिटी गार्ड ट्रेनिंग सेंटर बनाने जैसा

* नोटबंदी की तरह ‘अग्निपथ’ के पीएम मोदी के मौलिक चिंतन से युवाओं के सपनों की हत्या : शिवानंद तिवारी

* “आक्रोश का अग्निपथ, शांत हो जाओ अग्निवीर, शांत हो जाओ अग्निवीर

“ऐसी आशंका नहीं थी”: अग्निपथ योजना पर हिंसक विरोध पर नौसेना प्रमुख | पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *