Navy Chief Admiral R Hari Kumar Views On Agnipath Scheme – ऐसे विरोध की उम्‍मीद नहीं थी : अग्निपथ योजना पर हिंसक प्रदर्शन को लेकर बोले नौसेना प्रमुख

1 min read

एडमिरल हरि कुमार ने कहा, “यह योजना देश और इसके युवाओं के लिए फायदेमंद है

नई दिल्‍ली :

ऐसे समय जब केंद्र सरकार अग्निपथ योजना के विरोध के शांत करने और सैन्‍य बलों में इस नई ‘परिवर्तनकारी’ भर्ती योजना के लाभ बताने की कोशिश में जुटी है, नौसेना प्रमुख, एडमिरल आर हरि कुमार ने योजना का समर्थन किया है. देशभर में योजना के विरोध में हो रहे प्रदर्शन के बीच नौसेना प्रमुख ने कहा कि उन्‍हें अग्निपथ योजना के इस तरह विरोध की उम्‍मीद नहीं थी. उन्‍होंने इसे भारतीय सेना में सबसे बड़ा मानव संसाधन प्रबंधन परिवर्तन (biggest human resources management transformation)करार दिया. न्‍यूज एजेंसी एएनआई की ओर से पोस्‍ट किए वीडियो में एडमिरल कुमार ने कहा कि उन्‍होंने अग्निपथ योजना को लेकर करीब डेढ़ साल तक काम किया है.

यह भी पढ़ें

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में उन्‍होंने कहा, “मैं इसकी योजना टीम का हिस्‍सा था और इस पर करीब डेढ़ साल तक किया. यह एक परिवर्तनकारी योजना है और कई मायनों में सशस्‍त्र बलों में बदलाव लाएगी.” एडमिरल कुमार ने कहा, “यह योजना देश और इसके युवाओं के लिए फायदेमंद है क्‍योंक इससे अधिक अवसर खुलते हैं. मुझे लगता है क गलत जानकारी और योजना को लेकर गलतफहमी के कारण यह प्रदर्शन हो रहे हैं.” उन्‍होंने कहा कि जहां पहले केवल एक व्‍यक्ति को सशस्‍त्र बलों की सेवा करने का अवसर मिलता था, अब शायद चार लोगों को मिल सकेगा. सेवा की कम अवधि को लेकर अपने विचार रखते हुए उन्‍होंने कहा कि इसके कई लाभ हैं. अग्निवीरों को यह तय करने का मौका मिलेगा कि वे सशस्र सेवा को करियर के रूप में अपनाना चाहते हैं या कोई अन्‍य नौकरी करना चाहते हैं.

गौरतलब है कि सेना में भर्ती की नई योजना ‘अग्निपथ’ के खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन भीषण होता जा रहा है. देश के कम से कम सात राज्यों में शुक्रवार को प्रदर्शन देखे जा रहे हैं. बिहार और फिर उत्तर प्रदेश से फैली आग देश के कई और राज्यों तक पहुंच गई है. शुक्रवार को तेलंगाना में हिंसक हो गए, यहां एक प्रदर्शन में एक युवा की मौत हो गई. खबर है कि तेलंगाना के सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शन हिंसक हो गया था और वहां आगजनी की गई, जिसके बाद पुलिस को भीड़ हटाने के लिए हवाई फायरिंग करनी पड़ी. इसी दौरान एक जान चली गई और 15 से ज्यादा घायल हो गए. अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन के चलते 340 से अधिक ट्रेनों पर असर पड़ा है. कई राज्‍यों में ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया गया.

* केंद्र के पास अब बस हिटलर जैसे गैस चैंबर की कमी है : शिवसेना का वार

* चार योजनाओं के सहारे पीएम पर वार, राहुल बोले- देश की जनता क्या चाहती है मोदी जी नहीं समझते

* Presidential Polls: देश में बढ़ रहे हैं कोविड के मामले, एक दिन में 12,847 नए केस सामने आए

अग्निपथ योजना के विरोध में ट्रेन को लगाई आग, पुलिस ने धक्‍का देकर अन्‍य कोचों को किया अलग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *