Man Seen Saving Life By Putting A Child To The Chest In Mathura During Protest – Video:मथुरा में प्रदशर्नकारियों और पुलिस के बीच फंसी जिंदगी, बच्चे को सीने से लगाकर जान बचाते दिखा शख्स

1 min read

Video:मथुरा में प्रदशर्नकारियों और पुलिस के बीच फंसी जिंदगी, बच्चे को सीने से लगाकर जान बचाते दिखा शख्स

मासूम बच्चे को सीने से छिपाकर पुलिस के पीछे भागता व्यक्ति.

मथुरा:

अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) के खिलाफ शुक्रवार को मथुरा में प्रदर्शनकारियों ने जमकर उत्पात मचाया. प्रदर्शनकारियों ने मथुरा नेशनल हाईवे (Mathura National Highway) पर पथराव कर दिया, जिसके बाद लोग पुलिस (Police) के पीछे छिपने के लिए भागते जनर आए.

यह भी पढ़ें

इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें एक आदमी अपने मासूम बेटे को सीने से लगाकर पथराव से बचने के लिए पुलिस के पीछे भाग रहा है. इस व्यक्ति के पीछे एक महिला भी दौड़ती हुई दिखाई दे रही है, जो काले बुर्के में है. दोनों लोगों पुलिस के पीछे छिपकर किसी तरह से अपनी जान बचा रहे हैं. लेकिन प्रदर्शनकारी पथराव करने से बाज नहीं आ रहे.      

इस प्रदर्शन से जुड़ा एक और वीडियो सामने आया है, जिसमें पुलिस प्रदर्शनकारियों का पीछा करते हुए उन पर आंसू गैस के गोले छोड़ती नजर आ रही है. मथुरा में प्रदर्शनकारियों ने राजमार्ग पर कई कारों और ट्रकों के शीशे भी तोड़ दिए हैं. दोनों वीडियो वारल होने पर मथुरा पुलिस ने कहा कि वरिष्ठ अधिकारी मौके पर हैं और हिंसक प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. 

पूर्वी उत्तर प्रदेश के बलिया में शुक्रवार सुबह उग्र भीड़ रेलवे स्टेशन में घुस गई और एक कोच में आग के हवाले कर दिया. पुलिस द्वारा उनको जब तक तितर-बितर करती उसेस पहले प्रदर्शनकारी रेलवे स्टेशन की संपत्ति को काफी नुकसान पहुंचा चुके थे. 

इस सम्बन्ध में अवगत कराना है कि मौके पर पुलिस/प्रशासन के अधिकारीगण मय पुलिस बल के मौजुद है, आवश्यक कार्यवाही की जा रही है, उग्र प्रदर्शन कर शान्ति व कानून व्यवस्था को प्रभावित करने वालो के विरुद्ध कठोर वैधानिक कार्यवाही की जायेगी ।

अग्निपथ योजना के विरोध में उत्तर भारत में तेज होते प्रदर्शनों के बीच सरकार ने योजना में कुछ बदलाव और लाभ जोड़े हैं, जिसके बाद भी प्रदर्शनकारी पीछे हटने को तैयैर नहीं है. यह योजना थल सेना, नौसेना और वायु सेना में सैनिकों की भर्ती के लिए है, जो मोटे तौर पर चार साल के अल्पकालिक अनुबंध के आधार पर है. इसलिए देश के युवा इस योजना का विरोध कर रहे हैं. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *