New Agnipath Scheme For The Army Is A Step In The Right Direction: Manish Tewari – सही दिशा में कदम : कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने अग्निपथ स्‍कीम पर जताई पार्टी लाइन से अलग राय

1 min read

मनीष तिवारी ने अग्निपथ योजना को लेकर अपनी राय खुलकर रखी है

नई दिल्‍ली :

केंद्र सरकार की  सेना के लिए  नई अग्निपथ योजना (Agnipath scheme), आधुनिक युद्ध की प्र‍कृति में आए भारी बदलाव को देखते हुए सही दिशा में ले जाने का एक कदम है. कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी (Manish Tewari)ने NDTV के साथ विशेष बातचीत में पार्टी की लाइन से हटकर यह विचार व्‍यक्‍त किए. उन्‍होंने कहा, “आज के समय और युग में आपको मोबाइल आर्मी, युवा आर्मी की जरूरत है. आपको तकनीकी और हथियारों पर अधिक खर्च की जरूरत होती है. ऐसा तब तक नहीं होता जब तक आपके पास जमीनी स्‍तर पर बड़ा ढांचा (footprint)है. यही आपका ज्‍यादातर पैसा खर्च होता है. “

यह भी पढ़ें

गौरतलब है कि इस नई अल्‍पकालीन भर्ती योजना की घोषणा के बाद देश के कई राज्‍यों में प्रदर्शन, उग्र प्रदर्शन हुए है. मनीष तिवारी की अपनी पार्टी कांग्रेस ने इस योजना की आलोचना की थी. कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने (Rahul Gandhi) ने ‘अग्निपथ योजना’ को लेकर बुधवार को एक ट्वीट में लिखा था, “जब भारत दो मोर्चों पर खतरों का सामना कर रहा है, ऐसे समय अवांछित अग्निपथ योजना हमारे सशस्त्र बलों की परिचालन कार्यक्षमता (operational effectiveness) को कमजोर करने वाली है. बीजेपी सरकार को हमारी सेना की गरिमा, परंपरा, वीरता और अनुशासन के साथ समझौता बंद करना चाहिए.”

मनीष तिवारी पूर्व में भी कुछ मौकों पर पार्टी लाइन से अलग राय जाहिर कर चुके हैं, उन्‍होंने एनडीटीवी से बातचीत में कहा, “पिछले एक दशक में युद्ध की प्र‍कृति में जो बदलाव आया है, वह बहुत महत्‍वपूर्ण और मौलिक है. यदि आप तीन दशक पीछे जाने वाले सशस्त्र बलों को देखते हैं तो अब हमेशा तैयार (more mobile)अभियान बल है जो टेक्‍नोलॉजी और आधुनिक हथियारों पर अधिक निर्भर है और इसमें ज्‍यादातर लोग कम उम्र के हैं.ऐसी स्थिति में इस तरह के सुधार की बेहद जरूरत है.” उन्‍होंने कहा, “आप इसे पसंद करें या न करें, वन रैंक-वन पेंशन योजना के कारण, बढ़ता पेंशन ‘बोझ’ मुझे लगता है कि सरकार की गणना से आगे निकल गया होगा “

* ‘मेरी यात्रा कोई राजनीति नहीं, भगवान राम का आशीर्वाद लेने आया हूं’: अयोध्या में आदित्य ठाकरे

* “पुलिस हमारे सांसदों-कार्यकर्ताओं के साथ ऐसे व्यवहार कर रही जैसे हम आतंकी हों : अधीर रंजन

* Presidential Polls: ममता बनर्जी ने बैठक में शरद पवार के अलावा सुझाए इन दो नेताओं के नाम

अग्निपथ योजना पर बवाल, सहरसा में छात्रों ने रोकी ट्रेन तो नवादा में टायर जलाकर जताया विरोध

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *