International Yoga Day 2022: Why Do We Celebrate International Day Of Yoga And History, Significance And Importance Of Yoga Day  – International Yoga Day 2022: कब है अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस और इसे मनाने का क्या है कारण, जानें यहां

1 min read

International Yoga Day: जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डालता है योगा. 

खास बातें

  • योगा जीवनशैली को बेहतर बनाता है.
  • शारीरिक और मानसिक सेहत होती है बेहतर.
  • इस साल 8वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाएगा.

International Yoga Day 2022: हर साल 21 जून के दिन अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है. इस साल 8वां योग दिवस मनाया जाएगा. योगा (Yoga) शरीर और मन-मस्तिष्क को बेहतर करने की तरफ एक सीढ़ी है जिसे चढ़ने वाले को दोबारा पीछे मुड़कर देखने की जरूरत नहीं पड़ती. हर साल इस दिन लोग अलग-अलग जगह इकट्ठे होकर योग में लीन होते हैं. इस दिन को मनाने का मकसद योगा के फायदों (Yoga Benefits) से सभी को अवगत कराना और योगा के विषय में जागरूकता फैलाना है. 

यह भी पढ़ें

bcb0tfuo

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का इतिहास 

योग दिवस मनाने की शुरुआत की बात करें तो 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के संयुक्त राष्ट्र संघ की बैठक में योग दिवस मनाने का प्रस्ताव रखा था जिसके बाद 11 दिसंबर 2014 के दिन प्रतिवर्ष 21 जून को अंतराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने की घोषणा हुई. उस दिन से अबतक हर साल 21 जून को योग दिवस के रूप में मनाया जाने लगा है. 

इस साल का थीम 

आयुष मंत्रालय के अनुसार, बहुत सोच-विचार के बाद ‘योगा फॉर ह्यूमैनिटी’ (Yoga For Humanity) को इस साल की थीम चुना गया है. इसका अर्थ है मानवता के लिए योग. इस थीम पर ही इस साल योग दिवस मनाया जाने वाला है. 

इस वर्ष क्या है खास 


अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस  (International Day of Yoga) के लिए आयुष मंत्रालय ने कई नई पहल भी की हैं. इस बार ‘गार्जियन रिंग’ नाम का एक इनोवेटिव प्रोग्राम होने वाला है जिसमें अलग-अलग देश के संदर्भ में सूर्य की गति की भांति लोग योगा करते हुए दिखेंगे और पूर्व से पश्चिम की और बढ़ते हुए नजर आएंगे. डीडी चैनलों पर योग दिवस का लाइव टेलेकास्ट देखने को मिलेगा. इसके साथ ही, मोरारजी देसाई नैशनल इंस्टीट्यूट ऑफ योगा के साथ मिलकर आयुष मंत्रालय कई प्रोग्राम आयोजित कर रहा है. 

o3324mno

योगा का महत्व 

हर दिन योगा करना जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डालता है. यह शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर करता है और तनाव से व्यक्ति को मुक्त रखता है. शरीर में लचकता, मजबूती और शेप लाने के साथ ही योगा से ऊर्जा भी बढ़ती है. इसीलिए सभी को योगा करने की सलाह दी जाती है. 

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

ये 5 बुरी आदतें बनाती हैं हड्डियों को कमजोर, आज से ही करना छोड़ दें ये काम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित