Maharashtra Active Cases Jumps 2.5 Fold, 1885 New Covid Cases Today – महाराष्ट्र में कोरोना के एक्टिव केस में करीब 2.5 गुना का उछाल 10 दिनों में आया, मुंबई में सर्वाधिक

1 min read

महाराष्ट्र में कोरोना के एक्टिव केस में करीब 2.5 गुना का उछाल 10 दिनों में आया, मुंबई में सर्वाधिक

Maharashtra Active Cases : महाराष्ट्र में कोरोना के सक्रिय मरीज बढ़े

मुंबई:

महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों में लगातार तेजी बनी हुई और पिछले दस दिनों की बात करें तो एक्टिव केस में करीब ढाई गुना का उछाल आया है. सोमवार को राज्य में 1885 कोविड के नए केस सामने आए. राज्य में कुल एक्टिव केस 17,480 तक पहुंच गए हैं. बीएमसी के आंकड़ों के मुताबिक़, मुंबई के अस्पतालों में रोज़ाना भर्ती होने वाले कोविड मरीज़ 37 से बढ़कर 111 हो गए हैं यानी 10 दिनों में 200 % की बढ़त. महाराष्ट्र में, मौत जो ज़ीरो में रिपोर्ट हो रही थी, बीते 24 घंटों में 40 साल से कम उम्र के दो मरीज़ों की कोविड से मौत हुई है.  दोनो मौतें मुंबई से रिपोर्ट हुई हैं. मेडिकल विशेषज्ञों का कहना है कि ज्यादातर मरीजों में बीमारी के हल्के लक्ष्ण हैं और मृत्यु दर भी कम है. वायरस का कोई नया चिंताजनक स्वरूप भी नहीं देखा गया है. विशेषज्ञों ने इसे हल्की लहर करार दिया है.

यह भी पढ़ें

तारीख-एक्टिव केस

13 जून-17,480

3 जून – 5,127 

विशेषज्ञों ने कहा कि मरीजों को पैरासिटामाल दी जा रही है न कि रेमडेसिविर दवा, जिसका इस्तेमाल कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर के दौरान किया गया था. मई में महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 9,354 मामले आए थे जिनमें से 5,980 मुंबई के थे. पिछले महीने संक्रमण से 17 लोगों की मौत हुई थी. जबकि एक से 12 जून के बीच राज्य में 23,941 संक्रमित मिले हैं जिनमें से 14,945 सिर्फ मुंबई के हैं और इस अवधि में 12 लोगों की मौत हुई है. 

मुंबई के हिंदुजा अस्पताल के सीईओ गौतम खन्ना का कहना है भर्ती होने वाले मरीज़ दोगुने से ज़्यादा बढ़े हैं, और 50% को आईसीयू की ज़रूरत पड़ी है, सभी मरीज़ वैक्सिनेटेड हैं. महाराष्ट्र कोविड टास्क फ़ोर्स नज़र बनाए हुए है. कोविड टास्क फ़ोर्स के सदस्य डॉ राहुल पंडित का कहना है कि  देश में बढ़ते कोरोना के केस में ज्यादातर लोगों को ओमिक्रॉन के सब-वैरिएंट्स से संक्रमित पाया जा रहा है.

भारत में अब तक ओमिक्रॉन के BA.2 सब-वैरिएंट के मामले देखे जा रहे थे, हालांकि पिछले 10 दिनों में संक्रमण के शिकार पाए जा रहे लोगों में BA.4 और BA.5 सब-वैरिएंट्स के केस भी देखने को मिल रहे हैं। अध्ययनों में इन सब-वैरिएंट्स की संक्रामकता दर अधिक बताई जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *