Indian Air Force Will Be Self-sufficient, Now 96 Fighter Aircraft Will Be Made In The Country – भारतीय वायुसेना होगी आत्मनिर्भर, अब देश में बनेंगे 96 लड़ाकू विमान

1 min read

भारतीय वायुसेना देश में 96 विमान बनाएगी. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) बड़ा कदम उठाने जा रही है. वायुसेना ने 144 में 96 लड़ाकू विमानों (Fighter planes) को भारत में बनाने का फैसला किया है. इसके अलावा शेष 18 विमान ही विदेशों से आयात किए जाएंगे. वायु सेना को पड़ोसी देशों पाकिस्तान और चीन पर श्रेष्ठता बनाए रखने के लिए इन्हीं 114 लड़ाकू विमानों पर बहुत अधिक निर्भर रहना पड़ता है. इन विमानों की संख्या कम है इसलिए वायुसेना अपनी मांग के अनुरूप विमानों का निर्माण करेगी.

 

वायु सेना ने ‘बाय ग्लोबल एंड मेक इन इंडिया’ योजना के तहत 114 मल्टीरोल फाइटर एयरक्राफ्ट (MRFA) प्राप्त करने की योजना तैयार की है, जिसके तहत भारतीय कंपनियों को विदेशी विक्रेता के साथ साझेदारी करने की अनुमति होगी. सरकारी सूत्रों के अनुसार इसके लिए भारतीय वायु सेना ने विदेशी विक्रेताओं के साथ बैठक कर उनसे मेक इन इंडिया परियोजना को आगे बढ़ाने के तरीके के बारे में पूछा है. सूत्रों ने बताया कि योजना के मुताबिक शुरुआती 18 विमानों के आयात के बाद अगले 36 विमानों का निर्माण देश के भीतर किया जाएगा. 

यह भी पढ़ें

ये भी पढ़ें: MP Election: चुनाव में 17 बार जमानत जब्त करवा चुके ‘धरतीपकड़’ ने फिर ठोकी ताल

 

भारतीय मुद्रा में किया जाएगा भुगतान

सूत्रों ने कहा कि अंतिम 60 विमान भारतीय साझेदार की मुख्य जिम्मेदारी होगी और सरकार केवल भारतीय मुद्रा में भुगतान करेगी. भारतीय मुद्रा में भुगतान से विक्रेताओं को परियोजना में 60 प्रतिशत से अधिक ‘मेक-इन-इंडिया’ सामग्री हासिल करने में मदद मिलेगी. बोइंग, लॉकहीड मार्टिन, साब, मिग, इरकुत कॉर्पोरेशन और डसॉल्ट एविएशन सहित वैश्विक विमान निर्माताओं के निविदा में भाग लेने की उम्मीद है.

36 राफेल विमान भारत में कम हैं

आपातकालीन आदेशों के तहत खरीदे गए 36 राफेल विमानों ने 2020 में शुरू हुए लद्दाख संकट के दौरान चीनियों पर बढ़त बनाए रखने में काफी मदद की, लेकिन संख्या पर्याप्त नहीं है और इसके लिए ऐसी अधिक क्षमता की आवश्यकता होगी. देश में पांचवीं पीढ़ी की उन्नत मध्यम लड़ाकू विमान परियोजना संतोषजनक गति से आगे बढ़ रही है लेकिन इसे परिचालन भूमिका में शामिल होने में काफी समय लगेगा.

 

ये भी पढ़ें: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती, हालत स्थिर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित