Protest Over Remarks On Prophet Jamiat Condemns Arrest And Police Firing – पैगंबर पर टिप्पणी को लेकर प्रदर्शन: जमीयत ने गिरफ्तारी और पुलिस गोलीबारी की निंदा की

1 min read

पैगंबर मोहम्मद को लेकर भाजपा के दो पूर्व पदाधिकारियों की विवादित टिप्पणियों को लेकर हिंसक प्रदर्शनों के एक दिन बाद देश के कई हिस्सों में तनाव रहा. पैगंबर के खिलाफ कथित आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर भाजपा से निलंबित नेता नुपुर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग को लेकर झारखंड के रांची में हुई हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई और पश्चिम बंगाल के हावड़ा में प्रदर्शन हुए.

उत्तर प्रदेश पुलिस ने शुक्रवार की हिंसा के संबंध में राज्य के विभिन्न जिलों से 237 लोगों को गिरफ्तार किया. कानपुर में तीन जून को भड़की हिंसा के एक सप्ताह बाद कानपुर विकास प्राधिकरण (केडीए) ने शनिवार को मुख्य आरोपी के एक करीबी सहयोगी के स्वामित्व वाली एक ऊंची इमारत को ध्वस्त कर दिया.

पैगंबर पर टिप्पणी : पुणे में नवीन कुमार जिंदल के खिलाफ FIR, मुंबई पुलिस ने नुपुर शर्मा को तलब किया

जमीयत के महासचिव मौलाना हकीमुद्दीन कासमी ने एक बयान में कहा कि पैगंबर पर टिप्पणी के खिलाफ देशव्यापी विरोध प्रदर्शन के दौरान ‘पुलिस की ज्यादतियों’ और स्थिति को नियंत्रित करने में उसकी अक्षमता ने ‘आग में घी डालने’ का काम किया.

उन्होंने कहा कि पैगंबर का ‘अपमान’ कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. इसका विरोध करना मुसलमानों और देश के न्यायप्रिय नागरिकों का संवैधानिक और लोकतांत्रिक अधिकार है.

कासमी ने कहा, ‘अंधाधुंध तरीके से लोगों की गिरफ्तारी, पुलिस गोलीबारी और बुलडोजर का इस्तेमाल करके इस अधिकार का हनन करना किसी भी लोकतांत्रिक सरकार के लिए शर्मनाक है.’

उन्होंने कहा कि सरकारों को यह समझना चाहिए कि प्रदर्शनकारी देश के नागरिक हैं और इसलिए उनके साथ ‘विदेशी दुश्मन’ जैसा व्यवहार नहीं किया जाना चाहिए.

बहरहाल, उन्होंने कहा कि इस तरह के प्रदर्शनों में शरारती तत्व शामिल हो सकते हैं. कासमी ने कहा, ‘इसलिए मैं युवाओं से इस प्रकार के तत्वों से सतर्क रहने और शांतिपूर्ण नजरिया अपनाने की अपील करता हूं.’

कासमी ने कहा कि गिरफ्तार किए गए लोगों को कानूनी मदद मुहैया कराने के लिए हर स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं. पैगंबर पर विवादित टिप्पणियां करने को लेकर नूपुर शर्मा को भाजपा से निलंबित और नवीन जिंदल को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है.

‘ईश्वर की कृपा से मैं जीवित हूं’, रांची में हिंसक भीड़ से बचे बिहार के मंत्री नितिन नवीन ने कहा

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित