VHP Demands On Cameras, Violence And Sabotage Incidents In Muslim Dominated Areas, Mosque Madrasas – मुस्लिम बहुल इलाकों में लगाए जाएं कैमरे, हिंसा और तोड़फोड़ की घटनाओं पर VHP की मांग 

1 min read

VHP ने रखी मस्जिदों-मदरसों में हाई रेजोल्यूशन कैमरे लगाने की मांग

नई दिल्ली:

पैगंबर मोहम्मद (Prophet Muhammad) के खिलाफ विवादित बयान को लेकर उत्तर प्रदेश, झारखंड और पश्चिम बंगाल जैसे कुछ राज्यों में हिंसक घटनाएं (Violence Protest) हुई हैं. इस बीच विश्व हिन्दू परिषद (VHP) ने मांग की है कि देश भर में मस्जिदों और मदरसों के ‘भीतर और बाहर’ और मुस्लिम बहुल इलाकों में उच्च क्षमता का कैमरा लगाया जाए ताकि गतिविधियों पर नजर रखी जा सके. विहिप ने कहा कि हिंसा किसी के हित में नहीं है.विहिप के केंद्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि देश के कट्टरपंथी तत्व आम मुसलमानों को हिंसा के मार्ग पर ले जा रहे हैं, जो ना तो उनके हित में है और ना ही देश के. उन्होंने कहा, ‘भारत के शांत व सौहार्दपूर्ण वातावरण को दूषित करने वालों को यह समझना होगा कि भारत संविधान से चलता है शरियत से नहीं. जो लोग कट्टरपंथियों की कठपुतली बनकर न्यायालय के बजाए सड़कों पर स्वयं न्यायाधीश बनने का कुत्सित प्रयास कर रहे हैं, उन्हें इससे बाज आना होगा.’

यह भी पढ़ें

कुमार ने कहा कि प्रदर्शन के नाम पर बेकसूरों, सुरक्षाबलों, मंदिरों व सार्वजनिक स्थानों पर हमले सभ्य समाज के लिए चुनौती हैं. देश में जगह-जगह शासन-प्रशासन कार्रवाई कर ही रहा है किन्तु दंगाइयों के विरुद्ध और कठोरता से पेश आना होगा. विहिप नेता ने कहा कि दंगाइयों से संपत्ति के नुकसान की भरपाई तो की ही जाए, इस संबंध में प्रक्रिया को सरल और तुरंत भी बनाया जाए. उन्होंने कहा कि जिन धार्मिक स्थानों से हिंसक भीड़ निकली, उन स्थानों को भी इसकी जिम्मेदारी लेनी होगी.

विहिप कार्याध्यक्ष ने कहा कि जिस बात को लेकर देश में हिंसा और घृणा का वातावरण बनाने का प्रयास किया जा रहा है उसमें पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई पहले ही प्रारंभ कर दी है. कुमार ने कहा, ‘मुस्लिम समुदाय को हिंसा का मार्ग त्यागकर कानूनी प्रक्रिया का पालन करते हुए न्यायालय के निर्णय की प्रतीक्षा करनी चाहिए, अन्यथा इस प्रकार की क्रिया, प्रतिक्रिया किसी के हित में नहीं होगी.”

कट्टरपंथी एवं जेहादी तत्वों पर लगाम लगाने की जरूरत को रेखांकित करते हुए विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि देशभर में प्रत्येक मस्जिदों और मदरसों के ‘भीतर और बाहर’ तथा मुस्लिम बहुल इलाकों में उच्च क्षमता के कैमरे लगाए जाएं. इन कैमरों की कमान संबंधित पुलिस थानों के पास होना चाहिए और किसी भी अप्रिय स्थिति की जवाबदेही पुलिस थानों के प्रभारी पर होनी चाहिए .

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित