Please Free Me: Resignation Of Rajasthans Minister Signals Congress Trouble – मुझे आज़ाद कीजिए… : राजस्थान के मंत्री के ट्वीट से सामने आई कांग्रेस की दिक्कतें

1 min read

अशोक चांदना राजस्थान में खेल, युवा मामलों, कौशल विकास, रोज़गार, उद्यमिता तथा आपदा प्रबंधन व राहत विभागों के मंत्री हैं.

उन्होंने ट्वीट में लिखा, “माननीय मुख्यमंत्री, मेरा व्यक्तिगत अनुरोध है, कि आप मुझे इस क्रूर मंत्री पद से मुक्त कर दें, मेरे सभी विभागों का प्रभार कुलदीप रांका जी को दे दिया जाना चाहिए, क्योंकि वैसे भी सभी विभागों के मंत्री वही हैं… धन्यवाद…”

गौरतलब है कि बूंदी विधानसभा क्षेत्र के जनप्रतिनिधि अशोक चांदना की इस शिकायत से कुछ ही दिन पहले राज्य के जनजातीय नेता तथा विधायक गणेश घोगरा का सूबे की नौकरशाही के साथ ज़मीनों की डीड के वितरण को लेकर विवाद हुआ था.

विधानसभा में डूंगरपुर सीट की प्रतिनिधित्व करने वाले युवा कांग्रेस की राजस्थान इकाई के प्रमुख गणेश घोगरा ने 18 मई को इस्तीफा दे दिया था, और कहा था कि सत्तासीन पार्टी का विधायक होने के बावजूद उन्हें दरकिनार किया जा रहा है.

चांदना के ट्वीट के कुछ ही मिनट बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) की राजस्थान इकाई के प्रमुख सतीश पूनिया ने कांग्रेस नेता पर कटाक्ष करते हुए ट्वीट किया, और 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तरफ इशारा किया. उन्होंने लिखा, “जहाज़ डूब रहा है… 2023 के रुझान सामने आने शुरू हो गए हैं…”

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के लिए मंत्रियों तथा विधायकों का राज्य की नौकरशाही से नाराज़ होना चिंता का सबब है, क्योंकि राज्यसभा चुनाव सिर पर हैं, और एक-एक वोट बेहद कीमती है.

राजस्थान में मामूली राजनैतिक उथल-पुथल भी चिंता का कारण बन सकती है, क्योंकि पार्टी में वैसे भी अशोक गहलोत और उनके युवा प्रतिद्वंद्वी के बीच विधायक बंटे हुए हैं. कांग्रेस अगले साल विधानसभा चुनाव में लगातार दूसरा कार्यकाल पाने की उम्मीद कर रही है, लेकिन राजस्थान के पिछले 30 साल के इतिहास में किसी भी दल को कभी लगातार दूसरा मौका नहीं मिला है.

— ये भी पढ़ें —
* राजस्थान के मंत्री अशोक चांदना पर अधिकारी ने लगाया आरोप, मारे थप्पड़

* कांग्रेस MLA गणेश घोघरा ने दिया इस्तीफा, कहा – हो रही अनदेखी

* दिल्ली पुलिस ने राजस्थान के CM अशोक गहलोत के OSD से पूछताछ की

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित