ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट का जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने किया निरीक्षण

1 min read

ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट का जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने किया निरीक्षण

टाण्डा अम्बेडकरनगर। महामारी कोरोना के होम आइसोलेटेड संक्रमित मरीजों के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर को लेकर क्षेत्र में हाहाकार मचा हुआ है । नगर के काश्मिरियां मुहल्ले में स्थित जनपद के एकमात्र ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट का जिलाधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक ने निरीक्षण किया और आवश्यक दिशा निर्देश दिए।


टांडा नगर के काश्मिरियां मुहल्ले में विश्वकर्मा ऑक्सीजन डिस्ट्रीब्यूटर जनपद का एकमात्र 20 टन क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट स्थित है। इसके अलावा टांडा नगर के बस स्टैंड तथा नगर के जुबेर चौराहे के समीप स्थित पानी टंकी के सामने ऑक्सीजन गैस की दो अलग एजेंसी स्थित है जिनको भी आपूर्ति विश्वकर्मा ऑक्सीजन डिस्ट्रीब्यूटर द्वारा ही की जाती है। मौजूदा समय में कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आने के बाद होम क्वॉरेंटाइन हुए लोगों को सांस लेने में तकलीफ होने पर ऑक्सीजन सिलेंडर की आवश्यकता पड़ रही है। काश्मिरियां मुहल्ले में विश्वकर्मा ऑक्सीजन डिस्ट्रीब्यूटर के यहा सुबह से ही ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिल कराने के लिए सैकड़ों की संख्या में तीमारदारों की भीड़ जुट रही है। भीड़ अधिक बढ़ जाने के बाद पहले ऑक्सीजन सिलेंडर हासिल करने को लेकर लोग आपस में धक्का -मुक्की करते देखे जा रहे हैं। मरीजों के तीमारदार प्लांट के मालिक को भी खरी खोटी सुनाने से बाज नहीं आ रहे हैं और यहां तक की कई तीमारदार तो प्लांट मालिक को धमकी देने से भी पीछे नही है। इस बीच प्लांट से प्रतिदिन 400 ऑक्सीजन सिलेंडर रिपील कर लोगों को उपलब्ध कराया जा रहा है।

उपजिलाधिकारी के निर्देश के बावजूद प्लांट पर रिफिल के लिए आ रहे खाली ऑक्सीजन सिलेंडरो को सैनिटाइज न किए जाने से प्लांट पर मौजूद कर्मियों में भी भय का माहौल है। बीते दिन टांडा के उपजिलाधिकारी अभिषेक पाठक ने नगर पालिका के अधिकारियों को प्लांट पर आने वाले खाली आक्सीजन सिलेंडरों को सैनिटाइज कराए जाने का निर्देश दिया था परंतु नगरपालिका कर्मी प्लांट पर आ रहे ऑक्सीजन सिलेंडर को सेनीटाइज करने की जहमत तक नहीं उठा रहे। प्लांट पर जिस जगह खाली सिलेंडर उतरते हैं उसे भी वहीं पर होना चाहिये।प्लांट पर पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था ना होने के चलते ऑक्सीजन सिलेंडर पहले हासिल करने के लिए तीमारदारों के बीच धक्का-मुक्की आम बात है। लेकिन यह सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद करने को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा सका। इस बीच बुधवार अपराहन जिलाधिकारी सैमुअल पॉल एन व पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने प्लांट का निरीक्षण किया। इस दौरान डीएम ने ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए दौड़ रहे प्रत्येक तीमारदारों को मरीजों के लिए एक सिलेंडर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। वहीं एसपी ने प्लांट पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी करने के निर्देश निर्गत किए हैं। हालांकि गैस रिफिलिंग प्लांट के मालिक समाजसेवी रामप्यारे विश्वकर्मा द्वारा प्रशासनिक दिशा निर्देशों के अंतर्गत लोगों की मदद करने को भी तत्पर नजर आ रहे हैं परंतु अफरा-तफरी के इस माहौल में लोग ऑक्सीजन की व्यवस्था से संतुष्ट नजर नहीं आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित