लखीमपुर खीरी में हुए नरसंहार को लेकर भीम आर्मी के मंडल अध्यक्ष ने जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

1 min read

लखीमपुर खीरी में हुए नरसंहार को लेकर भीम आर्मी के मंडल अध्यक्ष ने जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

अम्बेडकरनगर, अवधी खबर (बृजेश कुमार)। भीम आर्मी व आजाद समाज पार्टी ‘कांशीराम’ के संस्थापक/ राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद के निर्देश पर भीम आर्मी एकता भारत मिशन के अयोध्या मंडल अध्यक्ष निखिल राव के नेतृत्व में अकबरपुर कलेक्ट्रेट के निकट बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर धरना प्रदर्शन कर रहे थे उक्त धरना स्थल पर अकबरपुर तहसीलदार जे०पी०यादव ने पहुंचकर ज्ञापन प्राप्त किया। लखीमपुर खीरी में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा का बेटा आशीष मिश्रा के द्वारा विगत 26 सितंबर को किसानों को धमकी देने का वीडियो सुधर जाओ वरना हम सुधार देंगे वायरल किया गया था। जिसका अंजाम 3 अक्टूबर 2021 की शाम को किसान भुगतना पड़ा। जनपद में एक कार्यक्रम से लौट रहे केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के पुत्र आशीष मिश्रा के काफिले की गाड़ियों से किसान विरोधी कृषि कानून का विरोध कर रहे थे। कि उसी उप्रांत आशीष मिश्रा की गाड़ियों के काफिलों से किसानों को सीधा रौंद दिया गया।

जहां लगभग 8 लोगों की मौत हो गई और कुछ अन्य लोगों की गंभीर रूप से घायल होने की सूचना मिली है। जिसको लेकर भीम आर्मी के अयोध्या मंडल अध्यक्ष निखिल राव ने शासन और प्रशासन से यह मांग किया कि मृतक आश्रितों को एक-एक करोड़ रुपया मुआवजा व एक सरकारी नौकरी दिया जाए। और आशीष मिश्रा के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाए तभी हमारे देश का लोकतंत्र सच कहा जाएगा। संवैधानिक अधिकार के तहत राजनेताओं को एवं समाजसेवियों को उनके परिजनों से मुलाकात करने का इजाजत दिया जाए, अन्यथा राष्ट्रपति शासन लागू किया जाए। इस दौरान मुख्य रूप से बृजेश कुमार मनोज पत्रकार, आजाद समाज पार्टी के जिला उपाध्यक्ष मनीष आजाद, पूर्व प्रत्याशी सदस्य जिला पंचायत नवनीत कुमार,प्रवीन यादव, जिला उपाध्यक्ष भीम आर्मी बृजेश अम्बेडकर, नगर अध्यक्ष अकबरपुर मज़ाहिर अब्बास माया, अकबरपुर विधानसभा उपाध्यक्ष सूरज राव, विधानसभा अध्यक्ष पीपुल राव,विवेक रावण, सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित