मल्लूपुर मजगवां कांड भाजपा के जंगलराज का प्रमाण :- श्याम किशोर शुक्ला

1 min read

मल्लूपुर मजगवां कांड भाजपा के जंगलराज का प्रमाण :- श्याम किशोर शुक्ला

अम्बेडकरनगर, 06-जनवरी। उप्र में कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं रह गई और पूरे प्रदेश में सैकड़ों ब्राह्मणों की हत्या योगीराज में हो चुकी है। उप्र कांग्रेस के उपाध्यक्ष और अनुशासन समिति के सदस्य श्याम किशोर शुक्ला पूर्व विधायक मजगवा हत्याकांड पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे,उन्होंने कहा कि इस घटना में स्थानीय पुलिस-प्रशासन की भूमिका घोर निंदनीय और अक्षम्य है और भाजपा में जरा भी नैतिकता हो तो मुख्यमंत्री इस्तीफा दें। भाजपाराज में ब्राह्मणों की ताबड़तोड़ हत्याओं से पूरे प्रदेश में दहशत का माहौल है।
जिला कांग्रेस मीडिया प्रभारी डा विजय शंकर तिवारी ने बताया कि मल्लूपुर मजगवा दोहरे ब्रह्महत्याकांड को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव प्रियंका गाँधी ने गंभीरता से लिया और उप्र कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने पूर्व विधायक श्याम किशोर शुक्ला के नेतृत्व में तीन सदस्यीय समिति गठित कर रिपोर्ट मांगी उसी क्रम में पूर्व विधायक श्याम किशोर शुक्ला और जिलाध्यक्ष रामकुमार पाल के साथ उच्च स्तरीय जांचसमिति जनपद पहुंचनी और मल्लूपुर मजगवा में पीड़ित शोकसंतप्त परिवार से मुलाकात कर सांत्वना दी और विभिन्न पहलुओं की जानकारी ली।


जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रामकुमार पाल ने कहा कि मल्लूपुर मजगवा की निवर्तमान प्रधान नीलम मिश्रा के जेठ रवींद्र मिश्रा और मौके पर मौजूद थानाध्यक्ष पी एन तिवारी से वार्ता कर अनिल मिश्रा और सुरेंद्र मिश्रा की हत्या पर पूर्व विधायक श्याम किशोर शुक्ला और प्रतिनिधिमंडल ने गहरी शोकसंवेदना व्यक्त की तथा सभी पहुओं की परख करते हुए स्थानीय प्रशासन की घोर अक्षमता और लापरवाही पायी।
इस दौरान प्रमुख रूप से शोकसंतप्त परिवार के अलावा दूधनाथ पांडेय, विद्या प्रसाद मिश्रा,पन्नालाल कन्नौजिया,श्रीमती सरोज चौबे, मो जियाउद्दीन अंसारी,कपिलदेव बारी ,सुभाष चंद्र, राजेश्वर राम मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित