एल 2 हॉस्पिटल मैं कोरोना के मरीजों की संख्या में काफी कमी आयी

1 min read

एल 2 हॉस्पिटल मैं कोरोना के मरीजों की संख्या में काफी कमी आयी

टाण्डा अम्बेडकरनगर। महामाया राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कालेज सददरपुर व टांडा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में स्थापित एल 2 हॉस्पिटल मैं कोरोना के मरीजों की संख्या में काफी कमी आयी है और इसी के साथ ही ब्लैक फंगस की दवाएं मेडिकल कालेज में उपलब्ध हो गयी है। मेडिकल कालेज के कोविड इंचार्ज डॉ राजेश गौतम ने बताया कि आज शुक्रवार को दिन में 11 बजे तक कुल 63 मरीज कोविड सेक्शन में भर्ती थे। जिनका इलाज चल रहा है। ब्लैक फंगस के 6 वाएल मेडिकल कॉलेज मैं आ गए है। मेडिकल कालेज में अभी तक दो मरीज ब्लैक फंगस के आये जिसमे एक की जांच रिपोर्ट स्पष्ट नहीं हो सकी है। गम्भीर प्रकृत के मरीज स्थानीय मेडिकल कॉलेज में रिफर होकर आए जिसमे से भारी संख्या में रिकवर हो गए हैं। फिलहाल नए मरीज इक्का दुक्का ही रिफर होकर आरहे हैं। आज कुल 63 मरीज दोपहर तक भर्ती थे जिनका इलाज चल रहा है। डॉक्टर के अनुसार मेडिकल कालेज में सभाजीत का ही ब्लैक फंगस की बीमारी स्पस्ट हुई थी जिसे बी एच यू वाराणसी रिफर किया गया था। दूसरा चन्दन नाम का मरीज आया जिसकी रिपोर्ट अभी स्पस्ट नही हो सकी है लेकिन उसे भी वाराणसी भेज दीया गया है। मेडिकल कॉलेज में ब्लैक फंगस की दवाएं व इंजेक्शन उपलब्ध नही थे जबकि वर्तमान समय में वह उपलब्ध हो गए हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र टाण्डा परिसर में 200 बेड के नव निर्मित मातृ एवं शिशु अस्पताल जिसे पिछले वर्ष ही महामारी कोरोना को देखते हुए कोविड के मरीजों के इलाज हेतु एल 2 मैं परिवर्तित कर दिया गया था पर कुल 13 मरीज का इलाज चल रहा है तथा किसी नए मरीज की भर्ती नही हुई है। एल 2 हॉस्पिटल के इंचार्ज डॉक्टर अतीक आलम ने बताया कि भर्ती मरीजों में कोई गम्भीर प्रकृत का मरीज नही है सभी की रिपोर्ट जांच हेतु भेज गया है। पिछले दिनों ऑक्सीजन की मारामारी में भी मरीजों की कमी होने से राहत देखी जा रही है फिलहाल मरीजों की संख्या में कमी नजर आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित