औद्योगिक नगरी टाण्डा में ब्लैक फंगस का मामला प्रकाश में आने से क्षेत्र में भय का माहौल

1 min read

औद्योगिक नगरी टाण्डा में ब्लैक फंगस का मामला प्रकाश में आने से क्षेत्र में भय का माहौल

टाण्डा अम्बेडकरनगर। औद्योगिक नगरी टाण्डा में ब्लैक फंगस का मामला प्रकाश में आने से क्षेत्र में भय व्याप्त हो गया है ब्लैक पंकज से जहां एक महिला की मौत हो गई है वहीं एक व्यक्ति को लखनऊ मेडिकल कालेज भर्ती कराया गया है।
विवरण के अनुसार नगर के मोहल्ला काजीपुरा निवासिनी 45 वर्षिय महिला मुज़म्मिलुंनिशा पत्नी एजाज अहमद कोरोना पॉजिटिव थी की बीती रात्रि में मृत्यु हो गयी। घर वालों ने बताया कि उनके आंख व चेहरे पर ब्लैक निशान हो गए थेऔर मरने के चेहरा भी काला पड़ गया था। इसी के साथ ही नगर के मोहल्ला मुबारक पुर निवासी तुफैल अहमद कोरोना से ग्रसित होने और इलाज के बाद जांच में निगेटिव आने के बाद ब्लैक फंगस के शिकार हो गए जिन्हें लखनऊ मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। इसके पहले राजकीय महामाया एलोपैथिक मेडिकल कालेज सददरपुर में 55 वर्षिय सभाजीत निवासी ग्राम सम्मनपुर को ब्लैक फंगस की शिकायत पर भर्ती कराया गया परंतु मेडिकल कालेज में ब्लैक फंगस की दवा की उपलब्धता न होने के कारण उसे बी एच यू वाराणसी भेज दिया गया।


टाण्डा नगर के मोहल्ला काजीपुरा में मृतक महिला के घर स्वास्थ्य टीम के साथ पहुंचे सी एच सी के डॉक्टर सईद अख्तर ने बताया कि घर वालों ने जो सिम्टम्स बताए उससे प्रथम दृष्टया ब्लैक फंगस के ही लक्षण प्रतीक हो रहे थे हालांकि उसकी जॉच नही हो सकी। मृतक महिला के परिजनों व संपर्क में आये 38 लोगों की जांच की गई जो सभी निगेटिव आयी। वहीं मोहल्ला मुबारक पुर निवासी तुफैल अहमद जो बीते अप्रैल माह में ही जुकाम बुखार की शिकायत पर जांच मैं कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे जिनका घर पर ही आइसुलेशन में इलाज चल रहा था और वे निगेटिव भी हो गये थे। उन्हें ब्लैक फंगस की शिकायत पर लखनऊ ले जाया गया। जिनकी बाएं आंख की पलक पूरी तरह काली पड़ गयी है। कोरोना महामारी से तो जनता जूही रही है इसी बीच ब्लैक फंगस की दस्तक से लोगों की चिंताएं बढ़ना शुरू हो गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित