मेडिकल कालेज में शासन की मंशा के अनुरुप नहीं लगी कोरोना की वैक्सीन 

1 min read

मेडिकल कालेज में शासन की मंशा के अनुरुप नहीं लगी कोरोना की वैक्सीन 

अम्बेडकनगर (दिनेश वर्मा )। महामाया राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कालेज सद्दरपुर में वायरस जनित भंयकर महामारी कोरोना की प्रथम बैक्सीन लगाने का काम तो बडी़ उत्सुकता पूर्वक किया गया। मगर शासन की मंशा के अनुरुप वैक्सीन न लग पाने से जिला प्रशासन के सभी दावे यहाँ फेल होते दिखाई दे रहें हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसारशासन की तरफ से महामाया राजकीय मेडिकल कालेज सद्दरपुर में 100 लोगों को कोरोना के टीके लगाना अनिवार्य था।

जिसकी तैयारी तो मेडिकल कालेज प्रशासन ने एक लिस्ट के जरिए की थी। मगर जब टीका लगवाने का समय आया तो कालेज प्रशासन की बडी़ मेहनत के बाद औसत से कम मात्र 39 लोगों को ही कोरोना की बैक्सीन लग सकी मेडिकल कालेज प्रशासन की लचर व्यवस्था के कारण 100 लोग वैक्सीन नहीं लगवा सके। क्या मेडिकल कालेज प्रशासन को 100 व्यक्ति वैक्सीन लगवाने के लिए नही मिले।कालेज प्रशासन ने इसके लिए जो 100 लोगों की लिस्ट जारी की थी महज वह कागजी कोरम पूरा करने के लिए तो नहीं थी।भंयकर बीमारी की वैक्सीन का कोरम क्यो नहीं पूरा किया गया।कि लोगों में टीका लगवाने के लिए तरह तरह की शंकाएं बनी हुईं हैं जिसके लिए कालेज प्रशासन पूरी संख्या नहीं जुटा सका ।जो कालेज प्रशासन की पूरी लापरवाही को दर्शा रहा है। इस सन्दर्भ में जब कालेज प्रधानाचार्य डाक्टर सन्दीप कौशिक से दूरभाष पर बात किया गया तो उन्होंने बताया कि केवल 39 लोगों को कोरोना की वैक्सीन लग पायी है । इससे स्पष्ट होता है कि कालेज प्रशासन चाहे जितने दावे करे मगर वे सभी दावे कोरोना वैक्सीन लगाने में विफल साबित हुए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

कॉपीराईट एक्ट 1957
के तहत इस वेबसाईट
पर दी हुई सामग्री को
पूर्ण अथवा आंशिक रूप
से कॉपी करना एक
दंडनीय अपराध है

(c) अवधी खबर -
सर्वाधिकार सुरक्षित