टैक्सी स्टैंड के ठेकेदारो से सांठगांठ कर लगाया लाखों रुपये का चूना

1 min read

अवधी खबर

टाण्डा अम्बेडकर नगर
गृह कर जलकर के नाम पर टाण्डा नगर पालिका परिषद जहां पर हजारों लोगों के विरुद्ध मनमानी व तुर्टी पूर्ण वसूली की आर सी जारी कर रही है वहीं पर टैक्सी स्टैंड के ठेकेदारो से सांठगांठ कर लाखों रुपये का चूना पालिका को कर्मचारी लगा चुके है उक्त राज का फाश स्थानीय निकाय की आडिट टीम ने किया, लेकिन कई वर्ष बीत जाने के बाद भी ठेकेदार के विरुद्ध वसूली प्रमाण पत्र नही जारी किया गया और अन्य कोई कार्यवाही नही की गई।इस मामले में नगर पालिका परिषद टाण्डा के ई ओ का कार्यभार देख रहे एस डी एम टाण्डा दीपक बर्मा ने 4 वर्ष पूर्व के टैक्सी स्टैंड नीलामी के 11 लाख रुपये की वसूली को लेकर नगर पालिका का कर निर्धारण अधिकारी को कड़ा पत्र भेजा है।
नगर पालिका में गत चार वर्ष पहले की टैक्सी स्टैंड नीलामी ठेकेदार अशोक कुमार सिंह के पक्ष में हुई थी जिसमें ठेकेदार द्वारा सम्पूर्ण नीलामी की धनराशि में से 11 लाख रुपये अदा नही किया गया।इसका संज्ञान लेते हुए एस डी एम ने पालिका के कर निर्धारण अधिकारी उमाशंकर सरोज को एक पत्र भेज कर कहा है कि वर्ष 2019,20के प्राइवेट टैक्सी स्टैंड की नीलामी अशोक कुमार सिंह के नाम स्वीकृत हुआ था जिसमें कुल धनराशि में से 11 लाख रुपये नही जमा किया गया।हालांकि सितंबर माह 22 में रसीद संख्या 773337 पर एक लाख रुपये जमा किया गया है।लेकिन अभी भी दस लाख का बकाया है। कर निर्धारण अधिकारी ने एस डी एम के पत्र के बाद कर अधीक्षक व राजस्व निरीक्षक को 11 अक्टूबर को एक पत्र के माध्यम से अवगत कराया है कि स्थानीय निधि लेखा परीक्षक विभाग द्वारा की गई आडिट में यह तथ्य प्रकाश में आया कि ठेकेदार द्वारा 11 लाख रुपये नही जमा किया गया जो आपत्तिजनक है।उन्होंने कर निरीक्षक से एक सप्ताह के अंदर अवशेष धनराशि जमा कराने का निर्देश दिया है अन्यथा की स्थित में विपरीत परिणामों के लिए राजस्व व कर अधीक्षक उत्तर दाई होंगे।इस बड़े घोटाले का पर्दाफाश आडिट विभाग द्वारा किये जाने पर पालिका में हड़कंप मचा है।जबकि पालिका वहीं पर गृह कर जल कर की आर सी काट रही है वहीं पर इतनी बड़ी धनराशि को छुपाए बैठी रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *