घाघरा नदी उफान पर किसानों की फसलें डूब कर हुई बर्बाद.

1 min read

अवधी खबर

आलापुर अम्बेडकर नगर।तहसील आलापुर क्षेत्र के पूर्वी छोर पर थाना राजेसुलतानपुर अंतर्गत लगातार हो रही वर्षात के कारण घाघरा नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण नदी किनारे बसे आराजी देवारा और माझा कम्हरिया के बाढ़ प्रभावित गांवों अराजी देवारा के (हंशु का पुरवा, प्रसाद कुर्मी का पुरवा, करिया लोनिया का पुरवा) ,माझा कम्हरिया , सिद्धनाथ,सराय हंकार, इटौरी ढोली पुर आदि गांवों में देर रात बाढ़ का पानी आ जाने की वजह से लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। आपको बता दें कि किसानों की तैयार धान एवं गन्ने की फसलें पानी में डूब कर बर्बाद हो गयी है गाँव पानी से चारो तरफ घिर चुका है। जलस्तर बढ़ने की सूचना पर आलापुर प्रशासन सक्रिय हो गया है और उपजिलाधिकारी रोशनी यादव के निर्देश पर तहसीलदार सुनील कुमार, नायब तहसीलदार देवानन्द तिवारी, राजस्व निरीक्षक मुन्नीलाल, रामकुमार, क्षेत्रीय लेखपाल अरुण कुमार, धीरेंद्र मौर्या, कृष्णमोहन प्रजापति, विवेक कुमार की टीम ने बाढ़ प्रभावित गाँवो का दौरा किया।मौके पर पानी बंधे से गाँव को जोड़ने वाले मुख्य मार्ग के ऊपर से बह रहा है लोगों को आने-जाने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। प्रशासन ने आने जाने के लिए चार नावों को सक्रिय कर दिया है तथा बाढ़ चौकी को सक्रिय कर दिया है।तहसीलदार सुनील कुमार ने बताया कि पशुओं के चारे हेतु संकट को देखते हुए पशुओं के लिए भूसा एवं बाढ़ प्रभावित लोगों की सहायता के लिए व्यवस्था की जा रही है । प्रशासन की तरफ राहत कार्य में किसी तरह की कोताही नहीं होने पाएगी।जनमानस एवं पशुओं के दवा इलाज के लिए मेडिकल कैंप लगाया जाएगा। नौजवान भारत सभा के मित्रसेन ने बाढ़ प्रभावित इलाकों में दौरा कर लोगों की समस्याओं को सुना एवं उपजिलाधिकारी आलापुर रोशनी यादव से बातचीत कर समस्याओं से अवगत कराया एवं मांग की कि इलाके में राहत कार्य शुरु किया जाय एवं मेडिकल कैंप लगाया जाय। साथ ही पशुओं के चारे की व्यवस्था की जाय। उपजिलाधिकारी ने समस्याओं को दूर करने का आश्वासन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *